DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

5 दिसंबर को सभी प्रदेशों की राजधानियों में प्रदर्शन

माकपा के महासचिव प्रकाश करात ने कहा कि केन्द्र सरकार मनरेगा कानून में बड़ी तब्दीली करने जा रही है। राज्यों के हिस्सों की भारी कटौती की जा रही है। इसके विरोध में माकपा पूरे देश में 26 नवंबर को प्रतिरोध दिवस मनाएगी।

श्री करात रविवार को जमाल रोड स्थित पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर पार्टी संसद के समक्ष भी धरना देगी। इस धरने में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि मनरेगा के तहत सालभर में किसी भी व्यक्ति को कम से कम 100 दिनों का रोजगार देना होता है। इस कार्य में माकपा शासित त्रिपुरा सबसे आगे है। वहां औसतन 88 दिन हर व्यक्ति को काम दिया जाता है। जबकि राष्ट्रीय औसत 45 दिनों का है।

 उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार श्रम कानूनों को भी बदलने की साजिश कर रही है। इसके विरोध में पार्टी सभी ट्रेड यूनियनों के साथ मिलकर 5 दिसंबर को हर प्रदेश की राजधानी में प्रदर्शन व रैलियां करेगी। इसमें सभी वाम दलों का सहयोग रहेगा। केन्द्र सरकार की अन्य जनविरोधी नीतियों के खिलाफ सभी वाम दल 18 से24 दिसंबर तक विरोध अभियान चलाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:5 दिसंबर को सभी प्रदेशों की राजधानियों में प्रदर्शन