DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जी-20 शिखर बैठक में यूक्रेन मसले पर पुतिन की किरकिरी

जी-20 शिखर बैठक में यूक्रेन मसले पर पुतिन की किरकिरी

ऑस्ट्रेलिया में चल रही जी20 शिखर बैठक के मौके पर यूक्रेन मसले को लेकर रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की खासी किरकिरी हुयी है।
    
बैठक में मेजबान देश ऑस्ट्रेलिया के अलावा अमेरिका, कनाडा और जापान ने यूक्रेन में रूस की दखलअंदाजी को पूरी तरह अस्वीकार्य और गलत बताते हुए इस बारे में पुतिन से सख्त लहजे में अपनी नाराजगी का इजहार किया।
   
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ मिलकर इन देशों के नेताओं ने एक संयुक्त बयान जारी करके कहा कि हम रूस द्वारा गैर कानूनी तरीके से क्रीमिया का अधिग्रहण करने तथा यूक्रेन में अस्थिरता पैदा करने की उसकी हरकतों का कड़ा विरोध करते हैं। हम यूक्रेन के युद्ध प्रभावित क्षेत्र में मलेशियाई एयरलाइन्स एमएच 17 को मार गिराए जाने के मामले में शामिल लोगों को हर हाल में कानून के शिकंजे में लाकर रहेगें।
    
ऐसी खबरें आ रही हैं कि जी20 देशों में ऐसी असहज स्थिति का सामना कर रहे पुतिन जरूरी काम का बहान बनाकर संभवत बैठक के बीच में ही स्वदेश वापस लौट सकते हैं।
  
यूक्रेन मसले को लेकर बैठक में कनाडा के प्रधानमंत्री स्टीफन हार्पर की नाराजगी तो कुछ इस कदर थी कि जब पुतिन ने उनके अभिवादन के लिए हाथ बढ़ाया तो हार्पर यह कहने से नहीं चूके कि वह उनसे हाथ मिलाने के पहले यह कहना चाहेंगे कि रूस को यूक्रेन से बाहर चले जाना चाहिए। 
    
ओबामा ने कहा कि यूक्रेन में रूस की कार्रवायी पूरी दुनिया के लिए खतरे का सबब बन सकती है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन तो इस मामले में सबसे ज्यादा सख्त बयान देते नजर आए। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि रूस ने अपनी यह हरकत बंद नहीं कि तो उस पर और कड़े प्रतिबंध लग सकते हैं और साथ ही ब्रिटेन और रूस के राजनयिक सबंध अबतक के सबसे निचले स्तर पर जा सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जी-20 में यूक्रेन मसले पर पुतिन की किरकिरी