DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कालेधन पर साथ दे दुनिया: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेशों में रखा कालाधन वापस लाने के लिए दुनिया के देशों से साथ देने को कहा। मोदी शनिवार को शिखर बैठक में पहली बार जी-20 नेताओं से मिले। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘कालाधन वापस लाना मेरी सरकार की प्राथमिकता है।’ मोदी में यह संदेश भी दिया कि आर्थिक सुधारों को राजनीति से अलग रखना चाहिए। आम लोगों को केंद्र में रखकर नीतियां बनाई जानी चाहिए।

सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा:  मोदी ने विदेशों में जमा कालेधन की पाई-पाई वापस लाने के अपने वादे के मद्देनजर यह मुद्दा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठाया। प्रधानमंत्री ने ब्रिक्स नेताओं से बेहतर समन्वय का आह्वान करते हुए कहा, ‘विदेशी में रखा कालाधन सुरक्षा के लिए भी चुनौती है।’

प्रधानमंत्री ने जी-20 शिखर सम्मेलन से पहले ब्रिक्स नेताओं से अनौपचारिक मुलाकात में यह बात कही। विदेश मंत्रलय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि ऐसा पहली बार हुआ है जब कालेधन को लेकर सुरक्षा क्षेत्र पर गौर किया गया है।

आर्थिक सुधार पर भी जोर:  मोदी ने कहा, ‘आर्थिक सुधारों की प्रक्रिया सरल होनी चाहिए और प्रशासन संचालन के तौर तरीकों में भी सुधार आना चाहिए। सुधारों की कमान आम लोगों के हाथों में होनी चाहिए,  इन्हें गुपचुप तरीके से नहीं किया जाना चाहिए।’

मेजबान ऑस्ट्रेलिया के पीएम टोनी एबॉट ने क्वींसलैंड स्थित संसद भवन में भोज आयोजित किया था। इस मौके पर सभी नेता बिना सहायकों के मिले। इसी मौके पर मोदी ने आर्थिक सुधारों पर बात की। मोदी ने कहा, दुनियाभर में यह धारणा है कि सुधार सरकार का कार्यक्रम है, इस स्थिति को बदलने की जरूरत है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कालेधन पर साथ दे दुनिया: मोदी