DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैमरे के सामने बेशर्म भी हूं और बोल्ड भी: अदिति

कैमरे के सामने बेशर्म भी हूं और बोल्ड भी: अदिति

अदिति राव हैदरी चाहे फिल्म में नजर आएं या रैंप पर, वह लोगों को हमेशा चौंकाती रहती हैं। पिछले साल रिलीज हुई फिल्म ‘बॉस’ में उन्होंने एक बिकिनी सीन देकर सबको हैरान कर दिया था।

मजेदार बात यह है कि अगर वह साड़ी पहन कर रैंप पर चलती हैं तो भी बहुत आकर्षक नजर आती हैं। यह बात दीगर है कि उनका फिल्मी करियर उनके व्यक्तित्व की तरह चमकदार नहीं हो पाया है।

आपको नहीं लगता कि आपका करियर बहुत धीमी गति से चल रहा है?
मैं इस बात में यकीन करती हूं कि जब जो होना होता है, वह तभी होता है। बॉलीवुड में मेरा कोई गॉडफादर नहीं है, कोई सलाहकार नहीं है। वैसे अब तक मैंने जिन फिल्मों में भी काम किया है, हर फिल्म में लोगों ने मेरे काम को सराहा है। बॉलीवुड में इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि मेरे एक रिश्तेदार असम राज्य के गवर्नर थे या मैं एक शाही परिवार से संबंध रखती हूं। मैं उनमें से नहीं हूं, जो पार्टियों में हाथ में शराब का गिलास लेकर गपशप करती हैं।

फिल्म इंडस्ट्री से बाहर का होना बहुत बड़ी कमी होती है क्या?
कमी इस मायने में होती है कि हमें बॉलीवुड के चाल-चलन की समझ नहीं होती। मुझे गेम खेलना नहीं आता। बिना किसी की मदद के आज मैं जिस मुकाम पर हूं, उससे मैं खुश हूं, क्योंकि मैंने वही काम किया, जो मुझे सही लगा। मुझे अपने करियर के किसी भी फैसले को लेकर कोई पछतावा नहीं है और ना ही मुझे किसी से कोई शिकायत है। पर यह सच है कि यहां बॉलीवुड से जुडे़ परिवारों की लड़कियों के साथ लोग अलग ढंग से व्यवहार करते हैं, जबकि ऐसा होना नहीं चाहिए। स्टार बच्चों के साथ-साथ गैर-फिल्मी परिवारों के बच्चों को भी अपनी प्रतिभा सामने लाने के सही मौके मिलने चाहिए।

आपके लिए ग्लैमर के क्या मायने हैं?
ग्लैमर व अंग प्रदर्शन में फर्क होता है। अगर आपकी मंशा अपने शरीर को दिखाना है तो वह अंग प्रदर्शन है। पर अगर आप बिकिनी सीन यह सोच कर कर रही हैं कि वह कहानी की जरूरत है तो वह अंग प्रदर्शन नहीं कहा जा सकता। स्विमिंग पूल के अंदर हम गाउन पहन कर तो नहीं जाएंगे न!

आप अपनी फिगर को किस तरह मेंटेन रखती हैं?
अभिनेत्री होने के नाते फिट रहना बहुत जरूरी है। मैं योग वगैरह करती रहती हूं।

आप फिल्मों में अंतरंग दृश्य भी बड़ी सहजता से कर लेती हैं।
मैं एक आम लड़की हूं। अंतरंग क्षण भी हर आम आदमी की जिंदगी का हिस्सा होते हैं। जब एक ‘प्रेमी युगल’ का प्यार दिखा रहे हैं तो उसमें किसिंग सीन होना तो जरूरी है। उस जगह पर आप उन्हें नाचते या गाते हुए नहीं दिखा सकते। एक बार फिल्मकार सुधीर मिश्रा ने मुझसे कहा था, ‘तुम दिखती बड़ी सीधी-सादी हो, पर कैमरे के सामने बेशर्म हो जाती हो।’ उनकी बातों में सच्चाई है, क्योंकि मैं कैमरे के सामने बेशर्म होना ही पसंद करती हूं। मैंने तो फिल्म ‘ये साली जिंदगी’ में भी काफी बोल्ड सीन किए थे। हकीकत यह है कि अगर इस फिल्म में अंतरंग या सेक्स सीन नहीं होते तो दर्शक कहते कि यह किस तरह का फिल्मकार है और किस दुनिया में जी रहा है।

तो फिर आपको ‘आइटम नंबर’ से क्यों परहेज है?
मैं आइटम नंबर नहीं करना चाहती, जबकि मुझे ‘डांस नंबर’ करने में मजा आता है। मेरा मानना है कि आइटम नंबर में कला की बजाय सिर्फ सेक्स को दिखाने की कोशिश की जाती है।

तो क्या इसी वजह से आपने मराठी फिल्म ‘राम माधव’ में कथक डांस किया?
इस फिल्म में यह डांस माधुरी दीक्षित के लिए सोचा गया था, मगर उनके पास समय नहीं था, इसलिए यह मौका मुझे मिल गया। बॉलीवुड में सरोज खान के अलावा किसी को नहीं पता कि मैं एक प्रशिक्षित कथक डांसर हूं।

आप एक प्रशिक्षित डांसर हैं, इसका आपको कितना फायदा मिलता है?
बहुत फायदा मिलता है। डांस के लिए हम ज्यादा रियाज करते हैं। इससे मेहनत करने की आदत पड़ जाती है। डांस हमें अनुशासन सिखाता है।

आपको किस तरह की फिल्में करना पसंद है?
मुझे लव स्टोरी वाली फिल्में करना पसंद है। ऐसी फिल्म करना मेरे लिए आनंददायक होता है। वैसे मेरे अंदर टैलेंट है तो मैं हर फिल्म में उभर कर आऊंगी।

निजी जीवन में आप किस तरह के प्यार में यकीन रखती हैं?
जिस प्यार में सच्चाई हो। मुझे परीकथाओं वाली प्रेम कहानियां बहुत पसंद हैं।

आने वाली फिल्में कौन कौन सी हैं?
सुभाष कपूर की फिल्म ‘गुड्डू रंगीला’ और मनीष झा की फिल्म ‘द लीजेंड ऑफ माइकल मिश्रा’ कर रही हूं। ‘गुड्डू रंगीला’ में मैं चंडीगढ़ की एक गूंगी-बहरी लड़की का किरदार निभा रही हूं, जबकि ‘द लीजेंड ऑफ माइकल मिश्रा’ में पटना से मुंबई आने वाली एक ऐसी लड़की का किरदार निभा रही हूं, जिसे लगता है कि वह बहुत अच्छी अंग्रेजी बोल सकती है। इसके अलावा विक्की बाहरी की फिल्म ‘टिकट टू बॉलीवुड’ कर रही हूं। इसमें मैं लंदन में पली-बढ़ी एक ऐसी लड़की का किरदार निभा रही हूं, जो बॉलीवुड में हीरोइन बनने आती है।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कैमरे के सामने बेशर्म भी हूं और बोल्ड भी: अदिति