DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फिक्सिंग में श्रीनिवासन समेत चार नाम उजागर

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में चार बड़े नाम उजागर कर दिए। जस्टिस मुद्गल कमेटी की रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद कोर्ट ने बताया कि इसमें पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष श्रीनिवासन,उनके दामाद मयप्पन, आईपीएल के पूर्व सीईओ सुंदर रमन और राजस्थान टीम के सह मालिक राजकुंद्रा के नाम हैं। हालांकि कोर्ट में उनकी भूमिका पर चर्चा नहीं हुई। मामले की अगली सुनवाई 24 नवंबर को होगी।

श्रीनिवासन ने कुछ तो गड़बड़ी की है : जस्टिस टीएस ठाकुर और एफएम कलीफुल्ला की पीठ ने इस प्रकरण की जांच करने वाली मुद्गल कमेटी की रिपोर्ट पढ़ने के बाद कहा,‘ऐसा लगता है कि श्रीनिवासन ने कुछ तो गड़बड़ की है।’ इस दौरान पीठ ने कहा कि समिति की रिपोर्ट में शामिल नामों का खुलासा किए बगैर इस मामले की निष्पक्ष सुनवाई नहीं हो सकती।

खिलाड़ियों को मामले से दूर रखा जाए: पीठ ने बताया कि कमेटी की जांच रिपोर्ट दो हिस्सों में आई है। इसमें से एक में क्रिकेटरों के नाम थे तो दूसरे हिस्से में गैर खिलाड़ियों के। जस्टिस ठाकुर ने इन्हें ‘नॉन प्लेइंग एक्टर्स इन द ड्रामा’ कहा। इस दौरान उन्होंने तीन खिलाड़ियों के नाम भी ले डाले। बाद में उन्होंने साफ किया कि खिलाड़ियों को इस मामले से दूर रखा जाएगा, भले ही उनका नाम सामने क्यों न आया हो। ऐसा नहीं करने से क्रिकेट की साख को नुकसान पहुंचेगा।

चार सप्ताह में दर्ज करें आपत्तियां : कोर्ट ने श्रीनिवासन समेत चारों लोगों को नोटिस जारी किया है। साथ ही 33 पन्नों की इस रिपोर्ट का हिस्सा बीसीसीआई, और इन चारों लोगों को मुहैया कराने की बात कही। इस रिपोर्ट में खिलाड़ियों के नाम नहीं होंगे। कोर्ट ने इन्हें चार सप्ताह में अपनी आपत्तियां दायर करने को कहा है।

टल गए बीसीसीआई के चुनाव : कोर्ट द्वारा सुझाव देने के बाद बीसीसीआई ने अपने चुनाव टाल दिए हैं। बोर्ड की 20 नवंबर को होने वाली एजीएम भी चार हफ्ते के लिए स्थगित कर दी गई है। इस एजीएम में ही बीसीसीआई के नए प्रमुख का चुनाव होना था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:फिक्सिंग में श्रीनिवासन समेत चार नाम उजागर