DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एलपीजी सब्सिडी 11 राज्यों में आज से नकद

एलपीजी सब्सिडी 11 राज्यों में आज से नकद

केंद्र सरकार डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर इन एलपीजी (डीबीटीएल) को कुछ संशोधनों के साथ शनिवार से लागू कर रही है। देश के 11 राज्यों के 54 शहरों में शनिवार से डीबीटीएल योजना शुरू हो जाएगी। इसके तहत उपभोक्ताओं को बिना सब्सिडी वाले एलपीजी सिलेंडर के पूरे दाम चुकाने होगे। सब्सिडी की रकम सरकार उनके खाते में जमा करेगी।

सरकार अगले साल 1 जनवरी से इस योजना को पूरे देश में लागू करने की तैयारी कर रही है। मोदी सरकार ने यूपीए की इस महत्वकांक्षी योजना से गैस सब्सिडी हासिल करने के लिए आधार नंबर जरूरी होने की शर्त को हटा दिया है। किसी व्यक्ति के पास आधार नंबर नहीं है,  तो भी वह अपने बैंक खाते को एलपीजी सब्सिडी से जोड़ सकता है। यूपीए सरकार ने 1 जून 2013 को आपका पैसा-आपके हाथ (डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर) के तहत इस योजना की शुरुआत की थी। तब इसे 291 शहरों में इसे लागू किया था। लेकिन दिल्ली और राजस्थान में चुनावी शिकस्त के बाद यूपीए सरकार ने बैंक खातों में सब्सिडी भेजने की योजना बंद कर दी थी। मोदी सरकार ने सत्ता संभालने के बाद इस योजना की समीक्षा की और कुछ बदलाव के साथ इसे लागू करने का फैसला किया।


एक किलो गैस पर 20 रुपये सब्सिडी
गैस सिलेंडर के लिए उपभोक्ता को पूरी कीमत चुकानी होगी। इसके बाद सब्सिडी की रकम सीधे बैंक खाते में चली जाएगी। सब्सिडी राशि का 20 रुपए प्रति किलोग्राम के हिसाब से सरकार वहन करेगी। बाकी सब्सिडी कंपनियों को देनी पड़ेगी। सरकार 31 मार्च 2015 से बाद फिर सब्सिडी की समीक्षा करेगी।


तीन माह में खाता जुड़वाना जरूरी
डीबीटीएल लागू होने के बाद उपभोक्ता को तीन माह तक सब्सिडी वाला सिलेंडर मिलेगा। इस दौरान उसे एलपीजी कनेक्शन को अपने बैंक खाते से जुड़वाना होगा। ऐसा नहीं करने पर उसे तीन माह का और समय मिलेगा,  पर इस दौरान सिलेंडर की पूरी कीमत देनी होगी। उपभोक्ता के बैंक खाते से अपना कनेक्शन जुड़वाने के बाद उसमें सब्सिडी राशि जमा कर दी जाएगी। इस अवधि में भी कनेक्शन को खाते से नहीं जुड़वाने पर उसे भविष्य में गैर सब्सिडी वाले दाम पर सिलेंडर खरीदने होंगे।


अगले साल से पूरे देश में लागू होगी योजना
- आंध्रप्रदेश,  दमन दीव,  गोवा,  हिमाचल प्रदेश,  कर्नाटक,  केरल,  मध्यप्रदेश,  महाराष्ट्र,  पंजाब व तेलंगाना के 54 शहरों में यह योजना शुरू हो रही है।
- जिनका एलपीजी कनेक्शन पहले से बैंक खाते से जुड़ा है, उन्हें गुरुवार से सिलेंडर के पूरे दाम चुकाने होंगे,  सब्सिडी उनके खाते में चली जाएगी।
- जिनके पास आधार नंबर है,  वह अपना आधार नबंर गैस एजेंसी को मुहैया करा सकते हैं,  एजेंसी में फार्म एक और बैंक में फार्म दो भरना होगा।
- जिनका आधार नंबर नहीं है,  उन्हें गैस एजेंसी को अपने खाते के बारे में बताना होगा। वे अपना एलपीजी कनेक्शन नंबर बैंक को फार्म चार के साथ दें।
- पहली बार डीबीटीएल से जुड़ रहे लोगों के पहला सिलेंडर बुक कराते ही उनके खाते में सब्सिडी की अग्रिम राशि जमा हो जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एलपीजी सब्सिडी 11 राज्यों में आज से नकद