DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेल प्रशासन के खिलाफ उबले माओवादी बंदी

पलामू के हरिहरगंज थाना क्षेत्र के रामपुर निवासी संजय सिंह (38 वर्ष) जयप्रकाश नारायण केंद्रीय कारा हजारीबाग में चार दिन से बेमियादी भूख हड़ताल पर बैठा है। शुक्रवार को उसके समर्थन में कारा में बंद एक सौ माओवादी बंदी भी भूख हड़ताल पर बैठे। आंदोलन का नेतृत्व कर रहे बंदी संघर्ष मोर्चा के नेता मुख्तार अंसारी ने कहा कि संजय सिंह ने चार माह पहले राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु मांगी थी।

उसने झारखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश, मानवाधिकार आयोग, मुख्यमंत्री झारखंड और गृह सचिव को भी पत्र लिखा था। आयोग ने बंदी के पक्ष में साक्ष्य प्रस्तुत करने और अन्य जानकारी मांगी है, लेकिन जेल प्रशासन उसका पत्र मानवाधिकार आयोग तक नहीं भेज रहा है। बंदियों का कहना है कि संजय का पत्र आयोग तक जब तक नहीं भेजा जाएगा, तब तक आंदोलन जारी रहेगा। इधर बंदी का आमरण अनशन खत्म कराने के लिए जेल प्रशासन की ओर से कोई पहल नहीं की गई है।

क्या कहता है प्रशासन
जेलर सीपी सुमन ने कहा कि बंदियों को समझा कर आंदोलन समाप्त करा दिया गया है। उन्होंने कहा कि बंदी संजय सिंह ने कुछ आवेदन दिया था। जो आवेदन भेजने लायक था, उसे भेज दिया गया और कुछ रोक दिया गया है। टेलीफोन बूथ शीघ्र ठीक करा दिया जाएगा। शाम में सभी बंदियों ने भोजन कर लिया है।
जयप्रकाश नारायण केंद्रीय कारा हजारीबाग।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जेल प्रशासन के खिलाफ उबले माओवादी बंदी