DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आत्महत्या का प्रयास : प्रेसीडेन्सी जेल के अधीक्षक, डॉक्टर निलंबित

आत्महत्या का प्रयास : प्रेसीडेन्सी जेल के अधीक्षक, डॉक्टर निलंबित

तृणमूल कांग्रेस के निलंबित सांसद और सारदा घोटाला मामले के आरोपी कुणाल घोष द्वारा कथित तौर पर आत्महत्या करने के प्रयास के सिलसिले में आज प्रेसीडेन्सी सुधार गृह (जेल) के अधीक्षक, जेल के डॉक्टर और डयूटी पर मौजूद कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया।
   
साथ ही पश्चिम बंगाल सरकार ने मामले की जांच के लिए एक समिति भी गठित की है। राज्य विधानसभा में इस बारे में दिए गए एक बयान में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि गह सचिव बसुदेव बनर्जी उस समिति के अध्यक्ष होंगे जो मामले की जांच करेगी।
   
उन्होंने कहा कि जांच पूरी होने तक अधीक्षक, जेल के डॉक्टर और डयूटी पर मौजूद कर्मचारी निलंबित रहेंगे। बनर्जी ने बताया कि घोष की हालत पूरी तरह स्थिर है और डॉक्टर उनके स्वास्थ्य की हर घंटे जांच कर रहे हैं। उन्होंने बताया देर रात करीब दो बजे उन्होंने खुद ही बेचैनी की शिकायत की।
   
मुख्यमंत्री ने बताया डॉक्टर ने उन्हें नींद की 15 गोलियां क्यों दी। नींद की दो या तीन गोलियां उन्हें दी जा सकती थीं शायद उन्होंने उतनी गोलियां नहीं लीं जितनी बताई जा रही हैं। डॉक्टरों ने भी कहा कि वह इतनी अधिक गोलियों का सेवन नहीं कर सकते थे।
   
बनर्जी ने कहा कि सारदा चिटफंड घोटाला मामले की जांच राज्य सरकार नहीं बल्कि सीबीआई कर रही है।

उन्होंने कहा कि घोष का नाम आरोपपत्र में है लेकिन कुछ लोग इस घटना को लेकर राजनीति कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने समाज को धोखा दिया उन्हें महान बताया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आत्महत्या का प्रयास : प्रेसीडेन्सी जेल के अधीक्षक, डॉक्टर निलंबित