DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उप्र विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुरू

उत्तर प्रदेश विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुक्रवार को शुरू हो गया। इस सत्र में विपक्ष द्वारा गन्ने का न्यूनतम समर्थन मूल्य न बढ़ाने, कानून-व्यवस्था और बिजली संकट पर सरकार को घेरने की संभावना है।

विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय द्वारा बुलाई गई एक सर्वदलीय बैठक में पार्टी के नेताओं ने उन्हें भरोसा दिलाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विपक्षी दल बहुजन समाज पार्टी (बसपा)और कांग्रेस सदन में एक रचनात्मक भूमिका निभाएंगे। शीतकालीन सत्र 14 से 21 नवंबर तक चलेगा।

इस दौरान राज्य सरकार 17 नवंबर को अनुपूरक बजट पेश करेगी। भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू के जन्मदिन (बालदिवस) के कारण कांग्रेस की मांग पर सदन में पहले दिन (शुक्रवार को) सिर्फ प्रश्नकाल होगा।

एक नेता ने बताया कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पार्टी को विपक्ष की आलोचना के लिए तैयार करने के लिए गुरुवार देर शाम समाजवादी पार्टी (सपा) के विधायकों की एक बैठक बुलाई थी। अधिकारियों को सत्र के लिए तैयारी करके आने को कहा गया है।

उधर, विपक्ष एवं बसपा नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने बताया कि वह लोगों की समस्याओं को ‘सबसे उपयुक्त तरीके’ से रखेंगे। सपा सूत्रों के मुताबिक, सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव ने मुख्यमंत्री अखिलेश से सत्र का विस्तार करने को कहा। सत्र के दौरान इसकी घोषणा की जा सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उप्र विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुरू