DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केंद्रीय मंत्री रामशंकर कठेरिया फर्जी मार्कशीट को लेकर विवादों में

केंद्रीय मंत्री रामशंकर कठेरिया फर्जी मार्कशीट को लेकर विवादों में

नवनियुक्त मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री रामशंकर कठेरिया इस आरोप को लेकर विवादों में आ गए कि उनके स्नातक के अंकपत्र में जालसाजी की गई थी। यद्यपि कठेरिया ने इस आरोप का कड़ा खंडन किया।
      
कठेरिया के खिलाफ उनके प्रतिद्वंद्वी बसपा उम्मीदवार ने 2010 में इलाहाबाद हाईकोर्ट में एक मामला दायर किया था, जिसमें उन पर अंकपत्र में जालसाजी का आरोप लगाया गया था। अदालत ने यद्यपि मामले को आगरा स्थित सत्र अदालत को भेज दिया है जिसकी सुनवायी 26 नवम्बर को होगी।
      
उन्होंने अपने खिलाफ आरोप को खारिज करते हुए कहा, (पूर्ववर्ती) बसपा सरकार मेरे खिलाफ जानबूझकर प्रतिदिन चार मामले दायर करती थी। उन्हें कोई सबूत नहीं मिला। बसपा सरकार के सत्ता में रहने के बावजूद मुझे सभी आरोपों से बरी कर दिया गया था।
      
कठेरिया ने एनडीटीवी से कहा कि उनके खिलाफ जालसाजी का यह मामला राजनीतिक रूप से प्रेरित था। उन्होंने उम्मीद जतायी कि वह बेदाग होकर सामने आएंगे। शिकायत के अनुसार उन्होंने अपने हिंदी के साथ ही अंग्रेजी के अंकों के साथ भी छेड़छाड़ की थी।
      
मंत्रियों के गत रविवार को शपथ ग्रहण करने के एक दिन बाद एक एनजीओ ने एक रिपोर्ट जारी की थी, जिसमें कहा गया था कि आगरा के भाजपा सांसद कठेरिया ने घोषणा की है कि उनके खिलाफ हत्या के प्रयास का एक तथा दो समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देने का एक मामला दर्ज है।
      
यद्यपि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कठेरिया के खिलाफ इस आरोप को खारिज कर दिया कि उनके खिलाफ हत्या का प्रयास सहित 27 आपराधिक मामले दर्ज हैं। उन्होंने कहा, राज्य में प्रत्येक भाजपा कार्यकर्ता के खिलाफ एक आपराधिक मामला है जो अखिलेख यादव सरकार ने दर्ज कराये हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केंद्रीय मंत्री रामशंकर कठेरिया फर्जी मार्कशीट को लेकर विवादों में