DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आगरा में हाईकोर्ट बेंच मुद्दे पर एचआरडी राज्यमंत्री की सफाई




ताजनगरी में हाईकोर्ट बेंच की स्थापना के मुद्दे पर डॉ. रामशंकर कठेरिया ने अपना मत स्पष्ट कर दिया है। उनके मुताबिक उन्होंने आगरा में ही पीठ की स्थापना का एलान नहीं किया था। उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया। उन्होंने सिर्फ अपनी मंशा जाहिर की थी।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री डॉ. रामशंकर कठेरिया बुधवार को पदभार संभालने के बाद पहली बार आगरा आए थे। भव्य स्वागत के बाद उन्होंने खंदारी कैंपस में मीडिया से बातचीत की थी। इसमें उनसे शहर के गंभीर और बड़े मुद्दों पर सवाल पूछे गए। इनके जवाब में डॉ. रामशंकर ने कहा था कि हाईकोर्ट बेंच, एयरपोर्ट, स्टेडियम बड़े मुद्दे हैं। यह सीधे उनके मंत्रलय के अधीन नहीं आते, लेकिन इनकी लड़ाई तेज की जाएगी। उन्होंने हक लेने के लिए पांच साल का वक्त देने का भी अनुरोध किया था। उन्होंने कहा था कि 2017 विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में भी पार्टी की सरकार बन जाएगी। इसके बाद उनकी ताकत और बढ़ जाएगी। फिर इस लड़ाई को और मजबूती से लड़ा जाएगा। हालांकि आगरा में हाईकोर्ट बेंच की स्थापना के लिए वे सांसद बनने के बाद लगातार आंदोलन करते रहे हैं। एचआरडी मिनिस्ट्री का जिम्मा मिलने के बाद उन्होंने शब्दों में संयम रखा। फिर भी आगरा में बेंच बनाने का वादा प्रचारित हो गया। इस पर केंद्रीय मंत्री ने गुरुवार को सफाई पेश की है। डॉ. कठेरिया ने कहा है कि हाईकोर्ट बेंच आगरा और मेरठ दोनों जगह बननी चाहिए। दोनों जिले लंबे समय से बेंच के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। मंत्री ने कहा कि कुछ चैनलों पर गलत खबर प्रसारित कर दी गई। लिहाजा मेरठ के वकीलों को गलतफहमी हो गई। उनकी मांग और कोशिश दोनों जगहों के लिए है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आगरा में हाईकोर्ट बेंच मुद्दे पर एचआरडी राज्यमंत्री की सफाई