DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आचार संहिता उल्लंघन मामले में पूर्व सांसद प्रभुनाथ दोषमुक्त

महाराजगंज के पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह को गुरुवार को छपरा कोर्ट से राहत मिली। आचार संहिता उल्लंघन के एक मामले में कोर्ट ने उन्हें बरी कर दिया। सीजेएम आरएस शुक्ला ने तरैया थाने में दर्ज आचार संहिता के उल्लंघन मामले में पूर्व सांसद को साक्ष्य के अभाव में दोष मुक्त करने का आदेश दिया।

पूर्व सांसद के खिलाफ इसुआपुर के बीडीओ विनोद प्रसाद सिंह ने 17 मार्च, 2009 को उच्च विद्यालय महुली चकहन में बिना अनुमति के बैठक करने की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। वहीं तरैया थाने में ही स्थानीय बीडीओ हीरामुनी प्रभाकर द्वारा दर्ज कराई गई।

प्राथमिकी मामले में पूर्व सांसद अपना बयान दर्ज कराने गुरुवार को सीजीएम कोर्ट पहुंचे। पूर्व सांसद ने अपने खिलाफ दर्ज आचार संहिता उल्लंघन के मामले में शामिल होने से स्पष्ट तौर पर इनकार किया। पूर्व सांसद के खिलाफ राजकीय प्राथमिक विद्यालय पोखरेड़ा, पचभिंडा के प्रागंण में बिना अनुमति के बैठक करने की प्राथमिकी दर्ज है। पूर्व सांसद ने दोषमुक्त होने पर कहा कि उन्हें न्यायालय पर पूरा भरोसा था। वहीं उनके अधिवक्ता नीरज व दीपक सिन्हा ने कहा कि राजनीति से प्रेरित होकर प्रशासन ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आचार संहिता उल्लंघन मामले में पूर्व सांसद प्रभुनाथ दोषमुक्त