DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहले चरण में 6 सीटों पर मुकाबला दिलचस्प होने की उम्मीद

पहले चरण में 13 विधानसभा सीटों पर 25 नवंबर को मतदान होगा। प्रत्याशियों का जनसंपर्क और प्रचार जारी है। अगले सप्ताह से स्टार प्रचारकों और बड़ी सभाओं का दौर भी शुरू हो जाएगा। पहले चरण में छह विधानसभा क्षेत्र ऐसे हैं, जहां मुकाबला दिलचस्प होने की उम्मीद है। साथ ही दो सीटें ऐसी हैं, जहां नेता पुत्र मैदान में हैं। दो सीटों पर दो दलों के प्रदेश अध्यक्ष मैदान में हैं। इसलिए ये सीटें पहले चरण में खास बन गए हैं और इन पर लोगों की नजर होगी।

किन सीटों पर हो रहा चुनाव
पहले चरण में चतरा, गुमला, बिशुनपुर, लोहरदगा, मनिका, लातेहार, पांकी, डालटनगंज, विश्रामपुर, छत्तरपुर, गढ़वा, भवनाथपुर व हुसैनाबाद में 25 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। इन सीटों पर कुल 199 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं।

चर्चा वाली सीटें
लोहरदगा :
इस सीट से कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व विधायक सुखदेव भगत कांग्रेस के उम्मीदवार हैं। वहीं आजसू के कमल किशोर भगत, झामुमो से सुखदेव उरांव, झाविमो से अनिता मिंज चुनाव मैदान में हैं। इसलिए यह सीट दिलचस्प बन गई है।

डालटनगंज : पूर्व सांसद इंदर सिंह नामधारी के पुत्र दिलीप सिंह नामधारी निर्दलीय मैदान में हैं। कांग्रेस के केएन त्रिपाठी, भाजपा के मनोज कुमार, झामुमो के संजीव कुमार तिवारी व झाविमो आलोक चौरसिया मैदान में है। मंत्री केएन त्रिपाठी और नामधारी के पुत्र के कारण इस सीट की चर्चा है।

गढ़वा : राजद के प्रदेश अध्यक्ष गिरिनाथ सिंह के मैदान में होने के कारण चर्चा में है। यहां से झाविमो छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए सत्येंद्र तिवारी, झामुमो के मिथिलेश कुमार ठाकुर चुनाव मैदान में हैं।

लातेहार : भाजपा द्वारा पहले दिए उम्मीदवार पर नक्सली होने का आरोप लगा और ऐन वक्त में पार्टी नेतृत्व ने उम्मीदवार बदल दिया। इसलिए यह सीट चर्चा में है। यहां से भाजपा उम्मीदवार ब्रजमोहन राम, राजद के विजय कुमार, झामुमो के मोहन गंझू व झाविमो के प्रकाश राम मैदान में हैं।

विश्रामपुर : कई बार विधायक, सांसद व मंत्री रहे ददई दूबे के पुत्र अजय दूबे यहां से कांग्रेस के उम्मीदवार हैं। इसलिए इस सीट पर लोगों की नजर है। यहां से भाजपा ने रामचंद्र चंद्रवंशी, झामुमो ने अनवर हुसैन अंसारी व झाविमो ने राजेश मेहता को उम्मीदवार बनाया है।

छतरपुर : यह सीट अपने आप में रोचक बन गया है। यहां कांग्रेस के साथ गठबंधन में शामिल हुए दल राजद व जदयू दोनों ने अपने-अपने उम्मीदवार मैदान में उतार दिया है। हाल में कांग्रेस छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए राधाकृष्ण किशोर पर भाजपा नेतृत्व ने दांव खेला है। जदयू विधायक सुधा चौधरी, राजद के मनोज भुईयां, झाविमो से प्रभात भुईंया चुनाव मैदान में हैं।

अन्य सीट की भी हैं खूबियां
गुमला :
आइएएस की नौकरी छोड़कर राजनीति में आए विनोद किस्पोप्ता कांग्रेस के उम्मीदवार हैं। उनके खिलाफ भाजपा के शिवशंकर उरांव और झामुमो के भूषण तिर्की को मैदान में उतारा है।

पांकी : इस सीट पर भी कांग्रेस-राजद-जदयू गठबंधन ध्वस्त हो गया है। कांग्रेस ने पांकी के निर्दलीय विधायक विदेश सिंह को अपनी पार्टी मे शामिल करा कर प्रत्याशी बनाया है। जबकि राजद ने रामदेव यादव को प्रत्याशी बनाया है। भाजपा ने अमित कुमार तिवारी को उम्मीदवार बनाया है।

मनिका : यहां भी कांग्रेसी गठबंधन टूटा है। कांग्रेस ने मुनेश्वर उरांव व राजद ने राम चंद्र सिंह चेरो को प्रत्याशी बनाया है। भाजपा ने हरिकृष्ण सिंह जबकि झामुमो ने शिल्पा कुमारी को प्रत्याशी बनाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पहले चरण में 6 सीटों पर मुकाबला दिलचस्प होने की उम्मीद