DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेहतभरी खुशनुमा सर्दियां

सेहतभरी खुशनुमा सर्दियां

खांसी, जुकाम, सांस में दिक्कत...ठंड का मौसम आते ही ये सब भी हमारी जिंदगी का हिस्सा बन जाते हैं। भले ही सर्दी का मौसम आपको भाता हो, पर स्वास्थ्य से जुड़ी ढेरों दिक्कतों का सामना करने के लिए भी इस मौसम में तैयार रहना होता है। ठंड के मौसम में अपनी लाइफस्टाइल में कैसे सुधार लाएं ताकि अंदर से मजबूत रहें, बता रही हैं चयनिका निगम

सर्दियां कई लोगों का पसंदीदा मौसम होता है। अदरक वाली चाय, मूली के परांठे और मेथी के साग जैसी चीजों के लिए अधिकांश लोग ठंड का इंतजार करते हैं। पर हमारे न चाहते हुए भी इस मौसम में सेहत से जुड़ी समस्याएं हमारी जिंदगी का हिस्सा बन जाती हैं। आइए जानें कैसे सर्दी की समस्याओं को अलविदा कहा जाए...

इम्यून सिस्टम हो सही
अगर इम्यून सिस्टम सही है तो सभी तरह के संक्रमण या स्वास्थ्य की दूसरी दिक्कतों से बचने की संभावना बढ़ सकती है। शरीर की रोग प्रतिरोधी क्षमता को मजबूत बनाने के लिए खान-पान पर खास ध्यान रखना होगा। इम्यून सिस्टम मजबूत बनाने के लिए सही पोषण जरूरी है। यह पोषण सिर्फ अच्छे खान-पान से ही मिल सकता है। संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट कॉलेज ऑफ मेडिकल साइंसेज की डाइटीशियन निरुपमा सिंह कहती हैं कि इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने के लिए एंटी ऑक्सीडेंट और विटामिन सी की सबसे ज्यादा जरूरत होती है। इन्हें सर्दी के मौसम में मिलने वाले रंग-बिरंगे फलों से आसानी से पाया जा सकता है। इस वक्त आने वाले गाढ़े हरे, लाल, पीले और नारंगी रंग के फल एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होते हैं। संतरा, सेब, लाल अंगूर, गाजर  जैसे फल नियमित रूप से खाएं।
 
नींद हो पूरी
सुकून भरी नींद आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाए रखने के लिए बेहद जरूरी है। नींद से शरीर खुद का पोषण करता है। हर दिन आठ घंटे की नींद जरूर लें।

तनाव से बनाएं दूरी
तनाव शरीर और दिमाग दोनों की सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। लगातार तनाव में रहना आपकी सेहत के लिए अच्छा नहीं है। जैसे-जैसे शरीर में स्ट्रेस हार्मोन बढ़ता है, वैसे-वैसे शरीर की रोग प्रतिरोधी क्षमता कमजोर होने लगती है।
 
गर्भवती हैं तो...
अगर आप गर्भवती हैं तो आपका इम्यून सिस्टम ज्यादा मजबूत होना चाहिए। इसके लिए अंडा और सूखे मेवे पर्याप्त मात्रा में खाएं। इनसे प्रोटीन और ओमेगा थ्री मिलेगा, जो मजबूत इम्यून सिस्टम के लिए जरूरी है।

दिल से करें प्यार
ठंड के मौसम में शरीर को गर्म रखने के लिए दिल को भी कठिन परिश्रम करना पड़ता है, जिसकी वजह से रक्तवाहिनियां सख्त हो जाती हैं और उसका असर रक्त संचार पर पड़ता है। कई बार ऑक्सीजन की सप्लाई भी कम हो जाती है। इसके साथ ठंडा तापमान ब्लड प्रेशर बढ़ा देता है, जिसका दिल पर दबाव हार्ट अटैक के रूप में सामने आता है। दिल की सलामती के लिए ठंड के मौसम में अपने शरीर को गर्म रखें और साथ ही हर दिन हल्का-फुल्का व्यायाम भी करें। सेहतमंद खाना खाएं और एक बार में ढेर सारा खाना खाने से बचें। ज्यादा वसा और कैलोरी से परहेज करें।

पानी कम नहीं, ज्यादा पिएं
ठंड में हम कम पानी पीने लगते हैं। पसीना भी कम निकलता है और प्यास भी कम लगती है। पर हमें याद रखना होगा कि शरीर को कम-से-कम 2 लीटर पानी तो मिलना ही चाहिए। इसलिए इतना पानी तो जरूर पिएं। इस जरूरत को सूप, जूस आदि से भी पूरा कर सकती हैं।

सांसों को मिलती रहें सांसें
ठंड के मौसम में सांस से जुड़ी परेशानियां भी बढ़ जाती हैं। अगर अस्थमा की मरीज हैं तो यह दिक्कत और बढ़ जाती है। सांस से जुड़ी परेशानियों से बचने के लिए पालतू जानवरों से दूरी बनाकर रखें। किचन में काम करते वक्त एग्जॉस्ट फैन का इस्तेमाल जरूर करें। इससे धुआं बाहर निकल जाएगा। बाहर निकलें तो चेहरा कवर करके ही रखें और घर लौटने के बाद हाथ धोना न भूलें।

फ्लू से बचना है जरूरी
फ्लू का वायरस ठंडी और सूखी हवाओं में ज्यादा समय तक रुकता है। फ्लू से बचे रहने के लिए जरूरी है कि आप अपने इम्यून सिस्टम को मजबूत रखें, ताकि वायरस आप पर हमला ही न कर सके। साथ ही शरीर को ठंड से बचाने और शरीर को गर्म रखने की कोशिश करें।

तो बनेगी बात
रंग-बिरंगे फल, सब्जियों को भरपूर मात्रा में शामिल कीजिए।
बहुत गर्म पानी से न नहाएं।
बाहर जाने के आधा घंटे पहले मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करें।

खानपान रखें संतुलित
नाश्ते में मूली के परांठे, दोपहर में मसालेदार सब्जी तो शाम के नाश्ते में समोसे और डिनर में कचौडियां। अरे, पच तो जाएगा ही। अगर आप यही सोचती हैं तो सोच में जरा सुधार करें। पुष्पांजलि हॉस्पिटल, गाजियाबाद की डाइटीशियन प्रियंका सिंह कहती हैं ठंड के मौसम में शरीर को गर्म रखने के लिए शरीरअपनी ओर से भी प्रयास करता है। भूख ज्यादा लगती है, खाना जल्दी पच भी जाता है। पर यह सोच कर कुछ भी खाते रहना सही नहीं है। अगर सुबह का नाश्ता ज्यादा भारी किया है तो दोपहर का खाना हल्का खाएं। पूरे मौसम में कुछ भी खाने से पहले याद रखें कि ठंड में वजन ज्यादा बढ़ता है।

इम्यून सिस्टम क्यों हो मजबूत
सर्दी के वक्त मौसम बदलता है और तापमान का संतुलन बिगड़ जाता है, जिससे शरीर की प्रवृत्ति सर्दी, जुकाम और खांसी के साथ दूसरे इंफेक्शन के लिए ज्यादा मुखर हो जाती है। पर इम्यून सिस्टम को मजबूत रखकर इन समस्याओं से बचा जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेहतभरी खुशनुमा सर्दियां