DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लूट से मुकरा दरोगा, आरोपियों को जमानत

दरोगा को कोड़हार चौकी में घुसकर पीटा गया और उसकी सर्विस रिवाल्वर लूट ली गई। तीन लोगों को इस आरोप में जेल भी भेज दिया गया। जब पीड़ित दरोगा का बयान हुआ तो वह अपनी लिखाई एफआईआर के तथ्यों से ही पलट गया और रिवाल्वर चोरी होना बताया। नतीजतन मुकदमा डकैती से चोरी में बदल और जेल में बंद आरोपियों त्रिभुवन सिंह, गुलाब सिंह व अशोक सिंह की जमानत मंजूर हो गई।

कोड़हार घाट पुल पर गत 29 अक्तूबर को टोल टैक्स अधिक वसूलने पर विवाद हुआ। उसके बाद दो-तीन गाड़ियों में आए लोगों ने पुलिस चौकी में घुसकर दरोगा अमित मिश्र से मारपीट की और उनका रिवाल्वर लूट ले गए। अमित मिश्र ने इस आरोप में 20 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। बाद में तीन आरोपी गिरफ्तार करके जेल भेजे गए। अपर सेशन जज सुनील कुमार सिंह ने उनकी जमानत अर्जी पर वरिष्ठ अधिवक्ता जगतपाल सिंह व सरकारी को सुनने के बाद आदेश में कहा कि इस मामले में 20 व्यक्तियों पर आरोप लगाया गया। पीड़ित के बयान में आया कि काफी लोग आए कब-कौन रिवाल्वर ले गया, नहीं बता सकता है। जो आरोप लगाए गए हैं। उनमें सात वर्ष तक कैद का प्रावधान है। इसलिए मामले की परिस्थितियों को देखते हुए 30-30 हजार रुपए के बंधपत्र दाखिल करने पर आरोपियों को रिहा कर दिया जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लूट से मुकरा दरोगा, आरोपियों को जमानत