DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सितंबर में औद्योगिक उत्पादन ढाई प्रतिशत बढ़ा

सितंबर में औद्योगिक उत्पादन ढाई प्रतिशत बढ़ा

खनन और विनिर्माण क्षेत्र के बेहतर प्रदर्शन और पूंजीगत सामानों की मांग में तेजी के चलते सितंबर में औद्योगिक उत्पादन में ढाई प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। औद्योगिक उत्पादन की यह वृद्धि दर तीन माह में सबसे ऊंची है।

औद्योगिक उत्पादन सूचकांक द्वारा आंका जाने वाला औद्योगिक उत्पादन पिछले साल इसी माह के दौरान 2.7 प्रतिशत बढ़ा था। इससे पिछले महीने अगस्त की वृद्धि दर को 0.42 प्रतिशत के अस्थायी अनुमान से संशोधित कर 0.48 प्रतिशत किया गया है।

जून में औद्योगिक उत्पादन में 4.3 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी, जबकि जुलाई में यह महज 0.4 प्रतिशत बढ़ा था। अप्रैल़़-सितंबर के दौरान, आईआईपी 2.8 प्रतिशत बढ़ा, जबकि बीते वित्त वर्ष की इसी अवधि में इसमें 0.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी।

सितंबर में विनिर्माण क्षेत्र का उत्पादन ढाई प्रतिशत बढ़ा, जबकि बीते साल की इसी अवधि में इसमें 1.4 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई थी। आईआईपी में विनिर्माण क्षेत्र का योगदान 75 प्रतिशत से अधिक है। अप्रैल़-सितंबर अवधि में विनिर्माण क्षेत्र में दो प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई, जबकि बीते वित्त वर्ष की इसी अवधि में इसमें 0.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

आलोच्य माह में खनन क्षेत्र का उत्पादन 0.7 प्रतिशत बढ़ा जो बीते साल सितंबर में 3.6 प्रतिशत था। अप्रैल़़ सितंबर के दौरान खनन क्षेत्र की वृद्धि दर 2.1 प्रतिशत थी जबकि बीते वित्त वर्ष की इसी अवधि में इसमें ढाई प्रतिशत की गिरावट आई थी।

सितंबर में पूंजीगत सामान क्षेत्र में 11.6 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई, जबकि बीते साल सितंबर में इस क्षेत्र में 6.6 प्रतिशत की गिरावट आई थी। अप्रैल़़ सितंबर अवधि में पूंजीगत सामान क्षेत्र के उत्पादन में 5.8 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई, जबकि बीते वित्त वर्ष की इसी अवधि में इसमें 0.6 प्रतिशत की गिरावट आई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सितंबर में औद्योगिक उत्पादन ढाई प्रतिशत बढ़ा