DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लौह अयस्कचच, दूध पाउडर, बटर ऑयल व न्यूज प्रिंट पर सीमा शुल्कचच घटा

बढ़ती महंगाई पर अंकुश के लिए संप्रग सरकार ने कई और कदमों की घोषणा की है। वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने लोकसभा में वित्त विधेयक पर दो दिन चली चर्चा का उत्तर देते हुए लौह अयस्क, दुग्ध पाउडर, बटर ऑयल और न्यूज प्रिंट पर सीमा शुल्क में कटौती का ऐलान किया। उसने बासमती चावल पर 8000 रुपए प्रति टन की दर से निर्यात शुल्क, इस्पात निर्यात पर 15 प्रतिशत निर्यात शुल्क लगाने और इसके कच्चे माल का आयात सस्ता करने के लिए सीमा शुल्क में कमी करने सहित अनेक उपायों की घोषणा की। हालांकि पेट्रोल, डीजल की उत्पाद एवं सीमा शुल्क दरों में कोई फेरबदल नहीं किए जाने से नाराज वामदलों के सदस्यों ने सदन से वाकआउट किया।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि मुद्रास्फीति में इस्पात की बढ़ती कीमतों का 21.3 प्रतिशत तक योगदान रहा है। इस समय मुद्रास्फीति 7.33 प्रतिशत की ऊंचाई पर है। वित्त मंत्री के जवाब के बाद सदन ने वित्त विधेयक 2008 को ध्वनिमत से पारित कर दिया। इसके साथ ही लोकसभा में वर्ष 2008-0े बजट को पारित करने का अंतिम चरण पूरा हो गया। वित्त मंत्री ने स्किम्ड दुग्ध पाउडर पर सीमा शुल्क की मुख्य दर 15 से घटाकर पांच प्रतिशत और बटर ऑयल पर 40 से घटाकर 30 प्रतिशत करने की भी घोषणा की।ड्ढr ड्ढr बासमती चावल के निर्यात को हतोत्साहित करने के लिए इसपर 8000 रुपए प्रति टन के हिसाब से निर्यात शुल्क लगाने और इसका न्यूनतम निर्यात मूल्य 1000 डालर करीब 40000 रुपए प्रति टन रखने की घोषणा की। वित्त मंत्री ने बताया कि उनकी घोषणाएं वित्त विधेयक को राष्ट्रपति की मंजूरी मिल जाने और घोषणा विशेष के बारे में अधिसूचना जारी होने के बाद ही अमल में आएंगी। चिदंबरम ने न्यूज पिंट्र पर सीमा शुल्क की दर पांच से घटाकर तीन प्रतिशत और कटे हुए और पॉलिश कीमती पत्थर तथा बिना तराशे रत्नों को भी बेसिक कस्टम ड्यूटी से पूरी तरह मुक्त कर दिया। बोरी बंद सीमेंट पर 600 रुपए प्रतिटन की निर्धारित दर पर उत्पाद शुल्क के स्थान पर उन्होंने मूल्यानुसार 12 प्रतिशत की दर से शुल्क लगाने का ऐलान भी किया। इलेक््रिटक कार के साथ-साथ अब सभी तरह के इलेक््रिटक वाहनों को उत्पाद शुल्क से मुक्त कर दिया गया है। उन्होंने टीएमटी बार और स्ट्रक्चरल बार पर 14 प्रतिशत काउंटरवेलिंग ड्यूटी को भी हटा दिया। इस्पात की प्राथमिक किस्मों-अर्धनिर्मित उत्पादों पर 15 प्रतिशत, रॉल्ड उत्पादों, कोल्ड रोल्ड पाइप और टूब पर 10 प्रतिशत तथा गैल्वनाइज्ड इस्पात पर पांच प्रतिशत की दर से निर्यात शुल्क लगाने की घोषणा की। करीब एक घंटे लंबे उत्तर में वित्त मंत्री ने इस्पात उत्पादन में काम आने वाले कच्चे माल, पिग आयरन, स्पंज आयरन, अधनिर्मित एचआर और सीआर कॉयल्स, इसकी छड़ों पर सीमा शुल्क की मूल दर पांच प्रतिशत से घटाकर पूरी तरह समाप्त कर दी। इसके अलावा इस्पात उत्पादन में काम आने वाले धात्विक कोक, फैरो एलायज और जिंक पर लगने वाले पांच प्रतिशत बेसिक सीमा शुल्क को समाप्त कर दिया। चिदंबरम ने सदन को इस साल देश में रिकार्ड खाद्यान्न उत्पादन होने का आश्वासन देते हुए कहा कि अनाज की कोई कमी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि गेहूं और चावल की इस साल रिकार्ड खरीदारी होने की उम्मीद है, इसलिए आपूर्ति कम रहने की चिंता नहीं होनी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लौह अयस्कचच, दूध पाउडर, बटर ऑयल व न्यूज प्रिंट पर सीमा शुल्कचच घटा