DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी आठ राष्ट्रीय राजमार्ग 2016 तक होंगे पूरा

उत्तर प्रदेश में लेटलतीफी का शिकार राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं में तेजी लाने के लिए केंद्र सरकार सक्रिय हो गई है। इसके तहत आठ राजमार्ग परियोजनाओं का अक्तूबर 2016 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। खास बात यह है कि इसमें चार राष्ट्रीय राजमार्ग कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली को जोड़ते हैं। इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नारे ‘सबका साथ, सबका विकास’ से जोड़कर देखा जा रहा है।

सूत्रों ने बताया कि सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को समीक्षा बैठक में उत्तर प्रदेश की राष्ट्रीय राजमार्ग परियेाजनाओं को तेजी से पूरा करने का निर्देश दिया है। इसमें आठ राजमार्ग परियोजनाओं को अक्तूबर 2016 तक पूरा करने को कहा गया है। आठ में से परियोजनाएं सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली को जोड़ते हैं। इसमें लखनऊ-रायबरेली (एनएच-24बी), रायबरेली-जाैनपुर (एनएच-231), रायबरेली-टांडा (एनएच-232), रायबरेली-बांदा (एनएच-232) शामिल हैं।

इसके अलावा कानपुर-कबराय (एनएच-86), आगरा-अलीगढ़ (एनएच-93), बरेली-सितारगंज (एनएच-74), इटावा-चकेरी (एनएच-2) का काम सितंबर 2015 तक पूरा करने के आदेश दिए हैं। अलीगढ़-आगरा व कानपुर-कबराय का 97 फीसदी काम हो चुका है। उम्मीद है कि इस साल दिसंबर तक दोनों परियोजना पूरी हो जाएगी। विदित कि यूपीए 2 ने 11वीं पंचवर्षीय योजना में उत्तर प्रदेश में कुल 16 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं को मंजूरी दी थी।। इसमें दो लेन, चार लेन, छह लेन राष्ट्रीय राजमार्गो का विकास किया जाना है। इन राजमार्ग परियोजनाओं पर लगभग 30,000 करोड़ रुपये खर्च होंगे।
---------------
राजमार्ग का नाम    किमी.        वर्ष
लखनऊ-रायबरेली    70        जनवरी     2015
आगरा-अलीगढ़    79        दिसंबर 2014
कानपुर-कबराय    122.7        दिसंबर     2014
रायबरेली-जाैनपुर    166.4        जून     2016
बरेली-सितारगंज    75        जनवरी  2016
रायबरेली-टांडा    155        अक्तूबर 2016
रायबरेली-बांदा    133.28    अक्तूबर 2016
इटावा-चकेरी    160        सितंबर 2015

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी आठ राष्ट्रीय राजमार्ग 2016 तक होंगे पूरा