DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस विश्वासमत हासिल करने का विरोध करती है: पृथ्वीराज

कांग्रेस विश्वासमत हासिल करने का विरोध करती है: पृथ्वीराज

कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण ने महाराष्ट्र विधान सभा में भारतीय जनता पार्टी के ध्वनिमत से विश्वासमत हासिल करने के बाद कहा कि कांग्रेस ध्वनिमत से विश्वासमत हासिल करने का विरोध करने के साथ ही मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस के इस्तीफे की मांग करती है।
         
उन्होंने कहा कि कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों ने विधान सभा अध्यक्ष हरीभाऊ बागडे से मतदान के जरिये विश्वासमत हासिल करने की मांग की थी लेकिन उन्होंने विपक्षी दलों के बात को स्वीकार नहीं करते हुए और विश्वासमत हासिल करने की परंपरा को तोडते हुए ध्वनिमत से सरकार के पक्ष में बहुमत सिद्ध किया।
        
महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष माणिकराव ठाकरे ने कहाकि भाजपा सरकार बहुमत सिद्ध नहीं कर सकी है। ध्वनिमत से विश्वासमत हासिल करना कानून के खिलाफ है।
      
ठाकरे ने कहा कि केन्द्र में जब अटल बिहारी वाजपेयी ने अपना विश्वास प्रस्ताव रखा था उस समय सिर्फ एक मत से उनकी सरकार गिर गयी थी।
उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में भाजपा सरकार ने सभी नियमों और राज्यपाल चिरंजीवी विद्यासागर राव के आदेश का भी उल्लंघन किया है।
        
ठाकरे ने कहा कि कांग्रेस के विधायक राज्यपाल से मिल कर भाजपा को दोबारा मतदान के जरिए बहुमत सिद्ध करने की मांग करेंगे। भाजपा ने नियम के विरुद्ध जो काम किया है। उसे पूरे देश के लोगों ने देखा है और आज सदन में पहले ही दिन भाजपा ने लोकतंत्र की हत्या की है।
         
ठाकरे ने कहा कि देवेन्द्र फडनवीस की सरकार आज सदन में बहुमत सिद्ध नहीं कर सकी और यह सरकार अभी भी अल्पमत में है।
   

महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता एकनाथ शिंदे ने आरोप लगाया कि भाजपा ने गैर कानूनी ढंग से बहुमत सिद्ध किया है जिसे हम मान्य नहीं करेंगे।
         
शिंदे ने कहा कि अध्यक्ष से पहले ही मतदान के जरिए बहुमत सिद्ध करने की मांग की गयी थी लेकिन उन्होंने हामारी मांग को अस्वीकार दिया।   महाराष्ट्र में बहुमत सिद्ध करने की परंपरा पहले कभी ऐसे नहीं थी। भाजपा नियम का उल्लंघन करते हुए अल्पमत में होते हुए बहुमत सिद्ध करने की बात कर रही है।
 
          
उन्होंने कहा कि यदि देवेन्द्र फडनवीस में हिम्मत है तो वह मतदान के जरिए अपना दोबारा बहुमत सिद्ध करें। जिससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जायेगा। उहोंने कहा कि आप की सरकार पर कितने लोगों का विश्वास हैयह स्पष्ट होना चाहिए। ध्वनिमत से कैसे मालूम होगा कि पक्ष और विपक्ष में कितने मत मिले।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांग्रेस विश्वासमत हासिल करने का विरोध करती है: पृथ्वीराज