DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंकों में हड़ताल से बैंकिंग कारोबार प्रभावित

वेतन वृद्धि की मांग को लेकर सार्वजिनक क्षेत्र के बैंकों सहित निजी एवं विदेशी बैंकों के करीब 10 लाख कर्मचारियों और अधिकारियों के बुधवार को हड़ताल पर जाने से पूरे देश में बैंकिंग कारोबार प्रभावित हुआ और ग्राहकों को असुविधा का सामना करना पडा़।
 
बैंक कर्मचारियों के प्रमुख संगठनों यूनाइटेड फोरम, बैंक यूनियंस और नेशनल अर्गेनाइजेशन आफ बैंक वर्कर्स ने आरोप लगाया है कि बैंक प्रबंधन के पुराने रुख पर कायम रहने की वजह से कर्मचारी हड़ताल पर है।   
      
यूनाइटेड फोरम के संयोजक एम वी मुरली के अनुसार, श्रमिक संगठनों ने वेतन में 25 प्रतिशत वृद्धि की मांग को कम कर 23 फीसदी कर दिया है, लेकिन भारतीय बैंक संघ 11 प्रतिशत बढ़ोतरी के पुराने रुख पर अड़ा हुआ है। इस संबंध में संघ के साथ कर्मचारी संघों की बैठक बेनतीजा रही थी।   
     
हड़ताल पर चिंता व्यक्‍त करते हुए अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस के महासचिव गुरुदास दासगुप्ता ने कहा कि सरकार आसमान छू रही महंगाई पर लगाम लगाने में विफल रही है। ऐसे में बैंक कर्मचारियों की वेतन में बढोतरी की मांग जायज है। देश के विकास में बैंकिंग क्षेत्र का महत्वपूर्ण योगदान है और इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की जिम्मदारी इनके कर्मचारियों पर होती है। इसलिए उनके वेतन में बढ़ोतरी जरूर की जानी चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बैंकों में हड़ताल से बैंकिंग कारोबार प्रभावित