DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाली उमर में प्रेमिका को दिया वचन जान देकर निभाया

बाली उमर में प्रेमिका को दिया वचन प्रेमी ने उसकी मौत के तीन दिन बाद निभा दिया। उसने जंक्शन पर ट्रेन से कट कर अपनी जान दे दी जबकि उसकी प्रेमिका ने तीन दिन पहले ही जहर खा कर अपनी जान गवां दी थी। प्रेमिका की मौत के बाद परिजन उस पर नजर रख रहे थे। परिजनों की सभी बंदिशों को तोड़ प्रेमी ने प्रेमिका को दिया वचन पूरा कर दिया।

सादाबाद थाना क्षेत्र के ग्राम धनौली में रहनेवाले 15 वर्षीय नवीन कुमार पुत्र रूमाल सिंह गांव की ही रहने वाली 14 वर्षीय किशोरी से प्यार करता था। इस प्यार की चर्चाएं कुछ ही दिन में आम भी हो गईं। दोनों में प्रेम इतना था कि वह एक दूसरे की शक्ल देखे बिना नहीं रहते थे। दोनों के प्यार के किस्से जब आम होने लगे तो दोनों के परिजनों ने उन पर पहरा बिठा दिया। परिजनों द्वारा लगाई गईं सभी बंदिशों को तोड़कर प्रेमी प्रेमिका हमेशा हमेशा के लिए एक होने का सपना लेकर 8 नवम्बर शनिवार को घर से भाग गए।

परिजनों को जब इसका पता चला तो वह उनकी तलाश में जुट गए। परिजनों ने दोनों को शनिवार की शाम आगरा में पकड़ लिया। दोनों ही परिजनों ने उनकी जमकर पिटाई की और एक दूसरे को अलग अलग कर दिया।  इसके बाद परिजनों ने दोनों पर सख्त नजर रखना शुरू कर दिया। अगले दिन 9 नवम्बर रविवार को नवीन किसी तरह अपनी प्रेमिका से मिला और दोनों ने साथ मरने का वचन एक दूसरे को दिया। प्रेमिका ने प्रेमी द्वारा दिए गए जहर का सेवन रात को कर लिया। लेकिन नवीन पर परिजनों की नजर थी तो वह विषाक्त का सेवन नहीं कर सका। हालत बिगड़ने पर प्रेमिका को उसके परिजन रात में चिकित्सक के पास लेकर पहुंचे। चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया।

प्रेमिका द्वारा जान दिए जाने के बाद नवीन के परिजनों ने उस पर नजर रखना शुरू कर दिया। परिजनों ने उसे कमरे में बंदकर दिया। सोमवार की शाम परिजनों से नजर बचा कर नवीन मथुरा भाग आया। वह जंक्शन के प्लेटफार्म संख्या नौ पर पहुंचा और ट्रेन के आगे कूद कर उसने अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली। रेलवे लाइन पर शव पड़ा होने की सूचना जब जीआरपी को मिली तो प्रभारी निरीक्षक एके मिश्र वहां पहुंच गए। शव के निकट ही मोबाइल फोन पड़ा हुआ था। फोन पर कई मिस्डकॉल थीं। जिस नम्बर की कॉल सबसे अधिक थीं पुलिस ने उसे सबसे पहले मिलाया। यह नम्बर नवीन की बुआ के बेटे का था। पुलिस ने परिजनों को इसकी सूचना दी। तब तक जीआरपी ने शव को पोस्टमार्टम पर भेज दिया था।
पोस्टमार्टम पर परिजनों ने बताया कि ट्रेन की चपेट में आने के कारण नवीन की मौत हुई है। नवीन मथुरा कैसे आया इस बारे में परिजन कोई जवाब नहीं दे सके। नवीन के इस तरह जान दिए जाने की हर किसी की जुबान पर थी। लोग कह रहे थे कि देर से ही सही नवीन ने प्रेमिका को दिया वचन अखिर निभा ही दिया।

एकल परिवार की प्रवृति से बढ़ रहा अवसाद
मथुरा। समाज में तेजी से हो रहे बदलाव के कारण एकल परिवार की प्रवृति भी बढ़ रही है। इस कारण युवाओं में अवसाद बढ़ रहा है। मन में घर कर बैठी कुंठा को युवा किसी से नहीं कह पाते। नतीजा थोड़े से तनाव के बाद वह आत्महत्या की ओर प्रेरित होकर जान गंवा देते हैं। यही कारण हैं कि भारत में अत्महत्याओं का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। एक सर्वे के मुताबिक भारत में हर वर्ष डेढ़ लाख से अधिक लोग विभिन्न कारणों से आत्महत्या कर लेते हैं। इनमें सर्वाधिक मामले प्रेम प्रसंग में असफल होने के होते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बाली उमर में प्रेमिका को दिया वचन जान देकर निभाया