DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली से देहरादून गए युवक-युवती की ड्राइवर ने हत्या की

दिल्ली से चकराता घूमने आये प्रेमी जोड़े की हत्या की घटना को दरिंदों ने दिल्ली के ‘निर्भया कांड’ की तर्ज पर अंजाम दिया। बकौल पुलिस, टैक्सी ड्राइवर और उसके तीन साथियों ने जीप में युवती से छेड़छाड़ की। विरोध करने पर युवक की हत्या कर दी। इसके बाद एक दरिंदे ने युवती के साथ दुष्कर्म किया। युवती के चीखने-चिल्लाने पर चुन्नी से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी।

यमुना में फेंका युवती का शव
सीओ एसके सिंह का कहना है कि युवती की हत्या करने के बाद टैक्सी ड्राइवर राजू दास और उसके साथियों ने युवती का शव लाखामंडल के पास पुल से यमुना में फेंक दिया। युवक शव भी यमुना में फेंकने की तैयारी थी। लेकिन तभी एक गाड़ी आ जाने से वे युवक का शव लेकर नौगांव की तरफ भाग गए। नौगांव से पांच किमी पहले पहाड़ी से अभिजीत के शव को गहरी खाई में फेंक दिया। पुलिस ने वारदात को अंजाम देने वाले टैक्सी ड्राइवर और उसके तीनों साथियों को गिरफ्तार कर लिया है।

टाइगर फाल के लिए बुक कराई थी टैक्सी
एसपी उत्तरकाशी जगतराम जोशी ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि 22 अक्तूबर को युवती अपने मित्र अभिजीत पॉल पुत्र अतुल पॉल कल्याण निवास लाडो सराय दिल्ली अपने साथी के साथ चकराता घूमने आई थी। 23 अक्तूबर को चकराता में उन्होंने टैक्सी ड्राइवर राजू दास पुत्र मोहनदास निवासी टुंगरोली चकराता को टाइगर फॉल जाने के लिए बुक कराया था। जब बात हुई तो उस समय राजू ने उनसे सवारियों को लोखंडी छोड़कर वापस आने की बात कही थी।

रास्ते में छोड़ने की बात कह बैठाया अन्य साथियों को
बकौल पुलिस सवारियों को लोखंडी छोड़ने के बाद जब राजूदास चकराता पहुंचा तो उसकी कार में तीन युवक बैठे थे। युवती और अभिजीत ने जब राजूदास से तीन अन्य सवारियों के बारे में पूछा तो राजूदास ने कहा कि गांव के लोग हैं रास्ते में छोड़ने हैं। यह कहकर युवती और अभिजीत को बीच की सीट पर बैठाकर वह टाइगर फॉल चले गए।

गाड़ी में पड़े रस्से से घोटा युवक का गला
 टाइगर फाल से लौटते वक्त राजूदास के साथियों ने स्थानीय भाषा में उससे लड़की को छेड़ने की बात कही। इस पर राजूदास ने अंधेरा होने का इंतजार करने को कहा। इसके बाद पीछे की सीट पर बैठे राजूदास के तीनों साथियों बबलू पुत्र ध्यानू, गुड्ड पुत्र खनियां दास, कुंदन पुत्र मदीदास निवासी टुंगरोली चकराता ने युवती से छेड़छाड़ शुरू कर दी। अभिजीत ने इसका विरोध किया तो इन्होंने अभिजीत को पीटना शुरू कर दिया। इसके बाद इन्होंने जीप में पड़ी रस्सी से अभिजीत का गला घोंट दिया।

अभिजीत की हत्या के बाद किया युवती से दुराचार
अभिजीत को ठिकाने लगाने के बाद तीनों आगे की सीट पर आकर युवती से छेड़खानी करने लगे। इसी दौरान एक आरोपी बबलू ने युवती के साथ दुराचार किया। बबलू ने युवती की बेरहमी से पिटाई भी की। युवती के चीखने-चिल्लाने पर चारों ने युवती की चुन्नी से उसका गला घोंटकर हत्या कर दी।

अभिजीत का था तीस अक्तूबर को मिला शव
30 अक्तूबर को नौ गांव पुलिस को लावारिस शव बरामद हुआ था। इसका पुलिस ने पंचनामा पोस्टमार्टम कराने के बाद शव की शिनाख्त न होने पर जला दिया था। इसकी शिनाख्त सोमवार को अभिजीत के रूप में की गयी। एसपी जगतराम शर्मा ने बताया कि चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। बताया कि आरोपियों ने लूटपाट और दुराचार की नीयत से अभिजीत और युवती की हत्या की है। आरोपी राजू से पहले ही युवती का मोबाइल बरामद कर लिया था। अभिजीत का मोबाइल कुंदन के पास था जिसे कुंदन ने अपनी बहन को दिया था। बताया कि दोनों मोबाइल बरामद कर लिए हैं।

यमुना में शव तलाशती रही पुलिस
मंगलवार को पुलिस आरोपियों को साथ लेकर दिन भर यमुना में लड़की शव खोजने में जुटी रही। लेकिन देर शाम तक शव नहीं मिल सका। आरोपियों को पकड़ने वाली पुलिस टीम में एसओ चकराता मुकेश थलेड़ी, विकासनगर चौकी प्रभारी नरेंद्र ठाकुर, कांस्टेबल अमित भप्त, धर्मेद्र धामी, सोवन सिंह, साकेत थाना नई दिल्ली के एसआई दुर्गादास सिंह, हेड कांस्टेबल सुधीर कुमार, गोपाल शामिल रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दिल्ली से देहरादून गए युवक-युवती की ड्राइवर ने हत्या की