अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्री श्री रविशंकर जी का 53 वां जन्मदिवस मना

आर्ट ऑफ लिविंग के तत्वावधान में बुधवार को बैंक रोड स्थित दादीजी मंदिर में संस्थापक गुरु श्री श्री रविशंकर जी का 53 वां जन्म दिवस मनाया गया। इसमें आर्ट ऑफ लिविंग के सैकड़ों भक्त शामिल थे। इस अवसर पर सबसे पहले गुरु पूजा की गई। उसके बाद सुदर्शन क्रिया व भव्य सत्संग का आयोजन किया गया। करीब 3-4 घंटे तक सत्संग चला। भक्त कलाकारों ने एक से बढ़कर एक भजन-कीर्तन भी प्रस्तुत किया। भक्तों ने भजन-कीर्तन के सागर में जमकर गोता लगाए। इस अवसर पर विनयानंद झा ने कहा कि गुरुजी पूर विश्व को वसुधैव कुटुम्बकम् मानते हैं।ड्ढr ड्ढr इसके द्वारा ही पूर विश्व में विश्व शांति व भाईचारा बना रहेगा। गुरुजी के अनुसार समर्पण, आस्था व दृढ़ता ही आध्यात्मिक पथ पर बनाए रख सकता है। हम सभी भक्त जन यह संकल्प लेते हैं कि जो ज्ञान की समृद्धि हमने पाई है उसे समाज के हर वर्ग तक पहुंचाना है। सेवा के द्वारा ही अच्छे समाज का निर्माण किया जा सकता है। साधना से स्वस्थ तन का निर्माण हो सकता है। सत्संग से मानव का मन स्वच्छ होता है। आर्ट ऑफ लिविंग का मुख्य स्तम्भ यही है। हम सभी भक्त इसके सहभागी बनें। मिशन ग्रीन अर्थ के तहत विश्व को प्रदूषण से मुक्त करने का संकल्प लिया गया तथा वृक्षों का आवंटन किया गया।ड्ढr ड्ढr पांच माह से ध्वस्त है मुख्य नालाड्ढr पटना (हि.प्र.)। बरसात सर पर है लेकिन पिछले पांच माह से ध्वस्त नाले को ठीक करने के लिए कोई सुगबुगाहट नहीं है। बरसात में संभावित जल जमाव को लेकर वार्ड 31 के निवासी परशान हैं। पार्षद पिंकी यादव ने बताया कि नगर निगम के कंकड़बाग अंचल कार्यालय से पश्चिम अशोकनगर रोड नं. एक के पास जनवरी में मुख्य नाला ध्वस्त हो गया था। नाले की मरम्मत व उड़ाही के लिए कई बार निगम बोर्ड में मामला उठाया गया लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इस वजह से नवरत्नपुर, बंगाली टोला, रामनगर, विनोबानगर, आजाद नगर, इंदिरा नगर व अशोक नगर में बरसात में भीषण जलजमाव होने की आशंका है। इन इलाकों में अब तक मात्र 20 फीसदी नाले की उड़ाही हुई है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री समेकित शहरी विकास योजना के तहत विनोबानगर में अरुण सिंह के मकान से न्यू बाइपास तक खुले नाले के निर्माण की गति काफी धीमी है। बरसात से पहले निर्माण पूरा होना संभव नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: श्री श्री रविशंकर जी का 53 वां जन्मदिवस मना