DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राम मंदिर विवाद को स्वयं देख रहे हैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने मंगलवार को अयोध्या में कहा कि राम मंदिर विवाद का समाधान सर्वसम्मति से किया जाएगा। उन्होंने कहा कि राम मंदिर के निर्माण का प्रश्न करोड़ों भारतीयों का प्रश्न है और इस मामले को स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देख रहे हैं। उम्मीद की जानी चाहिए कि भाजपा सरकार के वर्तमान कार्यकाल में ही इसका हल निकल आएगा। राज्यपाल श्री नाईक दीनबंधु नेत्र चिकित्सालय के नौवें स्थापना दिवस पर आयोजित तीन दिवसीय निशुल्क शिविर के समापन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में आए थे।

समारोह के समापन के बाद संवाददाताओं की ओर से पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति अच्छी नहीं है। उन्होंने बताया कि इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री से कई बार बात हुई है कि ऐसा वातावरण बने जिसमें महिलाओं का सम्मान सुरक्षित रहे और वह निर्भय होकर निकल सकें। उन्होंने माना कि प्रदेश में बिजली का संकट भी गहरा है । उन्होंने जानकारी दी कि समस्या को दूर करने के लिए केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री के साथ मुख्यमंत्री की मीटिंग तय कराई थी लेकिन केन्द्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार के कारण मीटिंग टल गई। उन्होंने आशा जताई कि जल्दी ही दोबारा मीटिंग होगी।

राज्यपाल श्री नाईक ने दावा किया कि प्रदेश के सभी 24 विश्वविद्यालयों में दीक्षांत समारोह जनवरी के अंत तक हो जाएंगे। पांच विश्वविद्यालय में दीक्षांत समारोह हो भी चुके हैं। उन्होंने उच्च शिक्षा में प्रवेश सम्बन्धित समस्याओं और रिक्त पदों पर भर्ती न होने की समस्या के बाबत कहा कि यह विषय राज्य सरकार का है और वह इस सम्बन्ध में सरकार के सम्पर्क में हैं। इसके पहले समारोह में उन्होंने मणिराम छावनी सेवा ट्रस्ट व कल्याणं करोति संस्था के कार्यो की सराहना करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार जब अपना काम न कर सके तो राज्यपाल को याद करें, वे सेवा के लिए सदैव तत्पर रहेंगे।
इससे पहले समारोह में राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास एवं स्वामी ओमानंद सरस्वती के अलावा कल्याणं करोति संस्था के सचिव विमल शर्मा ने उनका माल्यार्पण कर स्वागत किया।

वहीं राज्यपाल श्री नाईक ने नेत्र चिकित्सालय को प्रतिवर्ष 12 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने वाले उद्योगपति बीएस बाधवा के अलावा आईएएस जीवी पटनायक एवं राजेश अग्रवाल को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। समारोह में फैजाबाद के भाजपा सांसद लल्लू सिंह ने नेत्र चिकित्सालय को अपनी निधि से दस लाख का अनुदान प्रदान करने की घोषणा की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राम मंदिर विवाद को स्वयं देख रहे हैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी