DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

45 मिनट तक धड़का नहीं दिल, फिर हुई जिंदा

45 मिनट तक धड़का नहीं दिल, फिर हुई जिंदा

एक के बाद एक होने वाले चमत्कार विज्ञान को चुनौती देते हैं। अमेरिका की ऐसी ही एक घटना ने दुनिया भर के चिकित्सकों और वैज्ञानिकों को आश्चर्य चकित कर दिया है। फ्लोरिडा के बोको राटोल रीजनल अस्पताल में जटिल प्रसव के दौरान 40 साल की रूबी क्राउपेरा कैसिमिरो की दिल की धड़कन 45 मिनट तक रुकी रही। लेकिन, डॉंक्टरों ने जैसे ही उन्हें मृत घोषित किया, वे पुनर्जीवित हो उठीं।

प्रसव पीड़ा के बाद रूबी को अस्पताल लाया गया था। सीजेरियन ऑपरेशन के बाद उन्होंने स्वस्थ बच्ची टाइली को जन्म दिया। रूबी बेहद खुश थीं और परिवार वालों से बात कर रही थीं। लेकिन, तभी भ्रूण का तरल पदार्थ रिसकर रूबी के खून में पहुंच गया। बातें करते-करते ही वह बेहोश हो गईं। जल्द ही उनकी हालत बिगड़ने लगी और दिल की धड़कन बंद हो गई। डॉंक्टरों को भी उनके बचने की कोई उम्मीद नहीं थी। 45 मिनट तक उन्होंने प्रयास किया, लेकिन जब नब्ज नहीं लौटी, तो रूबी को मृत घोषित कर दिया गया। तभी चमत्कार हुआ। रूबी की नब्ज लौट आई और वह पुनर्जीवित हो उठीं। रूबी और उनकी बच्ची टाइली अब पूरी तरह सेहतमंद हैं।

किसी के समझ में नहीं आया
रूबी की धड़कन लौटाने के लिए डॉक्टरों ने उन्हें कई बार बिजली के झटके दिए। सीने को कई बार दबाया गया, लेकिन सब कुछ बेअसर रहा। और जब धड़कन लौटी, तो डॉंक्टरों के समझ में नहीं आया कि यह कैसे हो गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:45 मिनट तक धड़का नहीं दिल, फिर हुई जिंदा