DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शादी का नौवां फेरा पर्यावरण बचाने के लिए

शादी का नौवां फेरा पर्यावरण बचाने के लिए

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर भी सात की जगह नौ फेरों वाली शादी के मुरीद हो गए हैं। उन्होंने नौ फेरे लेने वाली बेटियों को एक-एक लाख रुपये देने की घोषणा की है।

जींद के हकीकतनगर में 3 नवंबर को चंचल और दामिनी की अनोखी शादी हुई थी। इसमें दोनों लड़कियों ने सात की बजाय नौ फेरे लिए थे। आठवां फेरा कन्या भ्रूण हत्या रोकने और नौवां फेरा पर्यावरण बचाने के लिए था। इतना ही नहीं, पर्यावरण मित्र के नाम से प्रसिद्ध जगदीप सिंह ने बेटियों को 11-11 पौधे देकर विदा किया था। मुख्यमंत्री ने इस शादी को अच्छा कदम बताते हुए दोनों लड़कियों को एक-एक लाख रुपये देने की घोषणा की है। यह घोषणा उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र करनाल में पहली बार खुले दरबार में किया। मुख्यमंत्री ने सोमवार को फोन पर बताया कि कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ आठवां और पर्यावरण संरक्षण के लिए नौवां फेरा लेकर दोनों बेटियों ने देश को अलग संदेश दिया। साथ ही, बेटियों को विदाई में 11-11 पौधे देने की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि एक पिता ने दान में पौधे देकर नई परम्परा शुरू की है। हमें इस तरह के कार्यो पर गर्व करना चाहिए।

पर्यावरण प्रेमी हैं जगदीप: मूल रूप से कोयल निवासी जगदीप पर्यावरण प्रेमी हैं। उन्होंने अपने घर के प्रांगण और छत पर करीब 150 किस्म के पौधे लगाए हैं। जगदीप पेशे से शिक्षक हैं और जिले के धनखड़ी गांव के स्कूल में पढ़ाते हैं। कोयल गांव में पानी की कमी है। पौधों को पानी देने के लिए हर रोज सुबह विद्यार्थी अपने घर से बोतलों में पानी भरकर लाते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शादी का नौवां फेरा पर्यावरण बचाने के लिए