DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिबू सोरेन के संघर्ष को जाना यूरोपियन प्रतिनिधियों ने

झारखंड विधानसभा चुनाव की जानकारी लेने पहुंचे यूरोपियन प्रतिनिधियों का दल शिबू सोरेन से मिला। यह मुलाकात मोराहाबादी स्थित आवास पर हुई। प्रतिनिधियों में झामुमो के चुनाव चिह्न तीर-धनुष को लेकर काफी उत्सुकता देखी। महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने चुनाव चिह्न और शिबू सोरेन के राजनीतिक संघर्ष को विस्तार से बताया। चुनाव घोषणा पत्र के संबंध में जानकारी दी।

प्रतिनिधियों ने जानना चाहा कि उनकी पार्टी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का मुकाबला कैसे करेगी। भट्टाचार्य ने कहा कि उनकी पार्टी प्रधानमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी की आलोचना नहीं करेगी। प्रधानमंत्री किसी पार्टी का नहीं पूरे देश का प्रतिनिधित्व करते हैं, इसलिए उनका सम्मान करना हमारा भी कर्तव्य बनता है।

नरेन्द्र मोदी भाजपा नेता के रूप में जब चुनाव प्रचार करने आएंगे तो प्रतिद्वंदी पार्टी होने के नाते उनके कथनों का जवाब दिया जाएगा। भट्टाचार्य ने प्रतिनिधियों को बताया कि चुनाव घोषणा पत्र में प्रशासनिक व्यवस्था में सुधार लाने तथा महिला सशक्तीकरण पर जोर दिया गया है। बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार लाने की बात कही है।

झारखंड में बसने का न्योता
भट्टाचार्य ने यूरोपियन प्रतिनिधियों को झारखंड में बसने का न्योता दिया। कहा कि झारखंड की प्राकृतिक छटा इतनी सुहानी है कि यहां आने वाले यहीं के होकर रह जाते हैं। आप लोग भी आइए और यहीं बसिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शिबू सोरेन के संघर्ष को जाना यूरोपियन प्रतिनिधियों ने