DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस पर हमले के मामले में होगी कड़ी कार्रवाई

प्रदेश में अब पुलिस कर्मियों पर हमला करना या फिर पुलिस थानों और वाहनों में तोड़फोड़ महंगी पड़ेगी। राज्य सरकार जल्द ही एक नई नीति लागू करेगी, जिसके तहत तीन स्तरों पर कार्रवाई कर ऐसी घटनाओं को रोका जाएगा। प्रदेश में एक जनवरी से 15 अक्तूबर 2014 तक पुलिस या फिर पुलिस कर्मियों पर हमले की 88 घटनाएं हो चुकी हैं। 

एडीजी कानून-व्यवस्था मुकुल गोयल ने इन घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए सभी जिलों से पुलिस पर हमले की रिपोर्ट तलब की। इसके अलावा मातहत अधिकारियों को इन घटनाओं पर रोक लगाने के लिए एक नीति बनाकर अमल शुरू करने को कहा है।

आईजी कानून-व्यवस्था ए.सतीश गणेश के मुताबिक, जल्द ही इस संबंध में नई नीति बनाकर लागू की जाएगी। सभी डीआईजी रेंज को एडीजी कानून-व्यवस्था की ओर से निर्देश दिए गए हैं कि ऐसी घटनाओं पर सख्ती से रोक लगाई जाए और दोषी हमलावरों पर कड़ी कार्रवाई की जाए। उच्चपदस्थ सूत्रों के मुताबिक, नई नीति में चरणबद्ध तरीके से कार्रवाई पर बल रहेगा।

सबसे पहले पुलिस पर हमलों से बचाव के कदम उठाए जाएंगे। इसके तहत गश्त आदि पर पूरी सुरक्षा और एहतियाती कदमों पर अमल किया जाएगा। गश्त मिलान आदि पर जोर रहेगा और पुलिस कर्मियों को दूरसंचार के उपकरण दिए जाएंगे, ताकि मुसीबत के वक्त संपर्क किया जा सके।

दूसरे चरण में दोषियों पर कड़ी कार्रवाई, गुण्डा एक्ट, रासुका और गैंगस्टर के तहत कार्रवाई की जाएगी। तीसरे चरण में पूर्व में हुए घटनाओं में शामिल रहे बदमाशों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई की जाएगी। सरकारी वाहनों अथवा पुलिस चौकियों पर तोड़फोड़ के मामलों में दोषियों पर जुर्माना लगाने की भी तैयारी है। पूर्व में शामिल रहे लोगों की पहचान भी की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पुलिस पर हमले के मामले में होगी कड़ी कार्रवाई