DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन साल में रेलवे का कायाकल्प कर देंगे: सुरेश प्रभु

तीन साल में रेलवे का कायाकल्प कर देंगे: सुरेश प्रभु

नये रेल मंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने आज कहा कि वह तीन साल के अंदर रेलवे का इस प्रकार से कायाकल्प कर देगें जिससे ना सिर्फ देश के लोग बल्कि पूरा विश्व भारतीय रेलवे पर नाज करे। 
       
केन्द्रीय मंत्रिमंडल के रविवार के हुए विस्तार में कैबिनेट मंत्री के रूप में शामिल सुरेश प्रभु ने आज रेल मंत्रालय में अपना कार्यभार संभालने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और जनता की उम्मीदों पर खरे उतरने का प्रयास करेगें। उनका उद्देश्य अगले तीन साल में रेलवे में आमूलचूल बदलाव करने का है।

उन्होंने कहा कि रेल बजट में हम अगले दो वर्ष की अपनी योजना पेश करेगें। हमारा मकसद तीन साल में रेलवे का पूरी तरह से कायाकल्प करने का है ताकि एक दिन हम कह सकें कि भारतीय रेलवे पर सिर्फ भारत के लोग ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया नाज करती है।
       
प्रभु ने कहा कि ग्राहकों की सुविधा, संरक्षा एवं सुरक्षा तथा खानपान में सुधार उनकी प्राथमिकताएं होगीं। उन्होंने कहा कि वह अभी कोई घोषणा नहीं करेंगे। काम को अल्फाजों से ज्यादा बोलना चाहिये। वह रेलवे को जनसामान्य के जीवन का महत्वपूर्ण और उपयोगी अंग बनाने के लिये काम करेंगे। 
       
इससे पहले नीले स्वेटर और पैंट शर्ट में रेल भवन पहुंचे प्रभु की रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा, रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अरूणेन्द्र कुमार एवं बोर्ड के अन्य सदस्यों ने अगवानी की। उन्होंने कार्यभार संभालने के तुरंत बाद रेलवे बोर्ड की एक बैठक कर रेलवे की पूरी स्थिति की समीक्षा की।
     
प्रभु देश के 38वें रेल मंत्री हैं। वह वर्ष 1999 से 2004 तकतत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के मंत्रिमंडल में विद्युत, वन एवं पर्यावरण मंत्री रह चुके हैं। पेशे से चाटर्ड एकाउंटेंट प्रभु को वित्तीय, निवेश पर्यावरण-तकनीकी मामलों का विशेषज्ञ माना जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीन साल में रेलवे का कायाकल्प कर देंगे: सुरेश प्रभु