DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

न्यू गुड़गांव से आ रहे हैं डेंगू के मामले

शहर में डेंगू के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। डेंगू के 11 नए मामलों ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की चिंता बढ़ा दी है। डेंगू के कुल मरीजों की संख्या 74 हो गई है। इनमें से 48 मामले गुड़गांव के हैं और अन्य मरीजों ने शहर में इलाज कराया है। पिछले एक माह में डेंगू के मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। अधिकांश मामले न्यू गुड़गांव के इलाकों से आए हैं। मलेरिया विभाग के कर्मचारियों द्वारा दी गई रिपोर्ट में भी अधिकांश ब्रीडिंग सेक्टरों और पॉश इलाकों के घरों में पाई गई है। डेंगू के नए मामले सेक्टर पांच,सेक्टर चार,सेक्टर 30,सेक्टर 45,सेक्टर 56,57,44 आदि से आए हैं।


सिविल सजर्न डॉ पुष्पा बिश्नोई ने कहा कि पिछले दो-तीन हफ्तों में डेंगू के अधिक मामले सामने आए हैं। मलेरिया विभाग ने 20 नए ब्रीडिंग चेकर की नियुक्ति की है जो संभावित क्षेत्रों में जाकर ब्रीडिंग की जांच करेंगे। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ वीके थापर ने बताया कि सामान्य तौर पर अगस्त और सितंबर में डेंगू के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी होती है। देर से बारिश होने और ठंड शुरु होने में देरी के कारण डेंगू के मच्छरों की ब्रीडिंग के लिए उपयुक्त समय है। उन्होंने कहा कि अगले कुछ दिनों तक डेंगू का खतरा बना हुआ है। इसलिए शहरवासियों को सावधानी बरतना चाहिए। लोगों को पूरी बांह का कपड़ा पहनना चाहिए,चप्पल की बजाए जूतों का इस्तेमाल करें।

डेंगू का मच्छर दिन के समय ज्यादा सक्रिय होता है इसलिए शरीर को ढंककर डेंगू के खतरे से बचना संभव है। डेंगू के मच्छर की ब्रीडिंग के स्थानों को सूखा रखें। फ्रिज के पीछे लगी ट्रे,मनी प्लांट,गमलों,खाली पड़े टायरों आदि में तीन दिनों से अधिक पानी एकत्र न होने दें। एडीज मच्छर का लार्वा ठहरे हुए साफ पानी में तीन दिनों में बनता है और एक हफ्ते में मच्छर पैदा होते हैं।


375 मामले डेंगू के आए थे वर्ष 2013 में
469 मामले आए वर्ष 2012 में
3 मौत हुई थी डेंगू से 2013 में
1 मौत हो चुकी है डेंगू से 2012 में

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:न्यू गुड़गांव से आ रहे हैं डेंगू के मामले