DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

साढ़े तीन सौ कर्मचारियों के वेतन और मानदेय मद में फंड आया

जिला स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत करीब साढ़े तीन सौ कर्मचारियों के वेतन और मानदेय मद में फंड आ गया है। हालांकि, इससे सभी कर्मचारियों के बकाए का भुगतान नहीं हो सकेगा।

सूत्रों के अनुसार केंद्र से जिला स्वास्थ्य विभाग को करीब आठ करोड़ रुपये मिले हैं, जो इन कर्मचारियों के एक महीने का भी वेतन नहीं है। कर्मचारियों के वेतन और बकाया के लिए करीब पैंतीस करोड़ रुपयों की जरूरत है। ‘हिन्दुस्तान’ में कई बार प्रमुखता से खबर प्रकाशित होने के बाद जिला स्वास्थ्य विभाग को ये आठ करोड़ रुपये मिले हैं।

इनको नहीं मिल रहा था वेतन
वेतन व मानदेय न मिलने से कर्मचारी ही नहीं बल्कि डॉक्टर व नर्स भी परेशान थीं। इनमें सदर अस्पताल के 11 डॉक्टर, एमजीएम अस्पताल की 84 जीएनएम नर्से, 11 अन्य कर्मचारी और 43 होमगार्ड जवान समेत करीब दो सौ पारा मेडिकल कर्मचारी शामिल हैं।

दजर्नों पत्रों के बाद फंड
सिविल सजर्न डॉ. विभा शरण व एमजीएम अस्पताल अधीक्षक डॉ. आरवाई चौधरी जुलाई से वेतन के लिए पत्रचार कर रहे थे। मंत्रलय में अक्तूबर के अंतिम सप्ताह में वेतन पर काम शुरू हुआ था, जिससे शुक्रवार को जिला मुख्यालय में फंड आ गया है।

समय पर रिपोर्ट न भेजने से हुई दिक्कत
राज्य से केंद्र को समय पर खर्च की रिपोर्ट न भेजने से यह दिक्कत हुई है। इससे मार्च के बाद जिला स्वास्थ्य विभाग में कोई फंड नहीं आया। वहीं आठ करोड़ रुपये मिलने के बाद अब योजना के प्रभारी डॉक्टर परेशान हैं कि आखिर किस कर्मचारी को कितना भुगतान किया जाए कि सभी को वेतन मिल सके?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:साढ़े तीन सौ कर्मचारियों के वेतन और मानदेय मद में फंड आया