DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब्बास नकवी का सियासत में कद नहीं बढ़ सका

पढ़े-लिखे हैं, व्यवहारिक हैं, संजीदा हैं और अल्पसंख्यक चेहरा भी हैं। भाजपा में संगठनात्मक दृष्टिकोण से काफी मजबूत भी हैं लेकिन, लंबे संघर्ष के बाद भी मुख्तार अब्बास नकवी का सियासत में कद नहीं बढ़ सका। वह 16 साल पहले भी राज्य मंत्री ही बनाए गए थे और आज भी।
मंत्रिमंडल का विस्तार हर प्रधानमंत्री का अपना अधिकार है और यह भी वह किसे क्या मंत्रलय सौंपता है पर जिस तरह तस्वीर सामने आयी, उससे तो यही लग रहा है कि मुख्तार अब्बास नकवी को कहीं न कहीं हल्का करने की कोशिश की गई है। जो, उन्हें राज्यमंत्री बनाया गया है। भाजपा के हर संकट में वे काम आए और पार्टी का अकेला पढ़ा-लिखा संजीदा अल्पसंख्यक चेहरा भी माने जाते हैं। जिसके बूते संगठन में उन्हें प्रवक्ता से राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तक बनाया गया, वह भी लगातार तीसरी दफा। संगठन में तमाम बड़े फैसलों में भी उनकी राय शुमारी होती है लेकिन, सियासत में कद नहीं बढ़ सका। अटल बिहारी बाजपेयी के नेतृत्व वाली एनडीए वन की सरकार में राज्यमंत्री रह चुके मुख्तार अब्बास नकवी ही क्या, उनके समर्थकों तक को यह उम्मीद थी कि उन्हें इस बार कैबिनेट मंत्री बनाया जाएगा, लेकिन इस बार भी उन्हें राज्य मंत्री पद की ही शपथ दिलायी गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब्बास नकवी का सियासत में कद नहीं बढ़ सका