DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एसएससी परीक्षा में 11 नकलची पकड़ने से हड़कंप

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की क्लर्क ग्रेड की कंबाइंड हायर सेकेंडरी लेवल परीक्षा मजाक बनकर रह गयी है। रविवार को एक दफा फिर एसएससी परीक्षा की दोनों पालियों में 11 नकलची पकड़े जाने से हड़कंप मच गया। बीते दो नवंबर को हुई एसएससी परीक्षा में भी एमबीपीजी कॉलेज में तीन नकलची पकड़े गये थे।

एसएससी परीक्षा कराने दिल्ली मुख्यालय से पहुंचे पर्यवेक्षक जयदीप ठाकुर और एसडीएम हरबीर सिंह के अनुसार शनिवार को कमलुआगांजा स्थित डीएवी सीनियर सेकेंडरी स्कूल के प्रधानाचार्य के नाम पर एक गुमनाम पत्र पहुंचा था, जिस पर बागपत (मेरठ) पोस्ट ऑफिस की मोहर लगी थी। नागरिक के नाम से भेजे गये इस पत्र में एसएससी का पेपर लीक होने की सूचना दी गयी थी। साथ ही सूचित किया गया था कि डीएवी स्कूल में खालिदपुर मेरठ निवासी सौरभ धामा नामक युवक लीक पेपर से परीक्षा देने आने वाला है। रविवार सुबह सौरभ परीक्षा देने डीएवी पहुंचा। टीम ने परीक्षा शुरू होने के कुछ समय बाद उसकी जेब में छिपाये गये मोबाइल फोन में कोड में लाये गये उत्तर लिखे पकड़े, जिसे टीम ने जब्त कर लिया।
इसी केंद्र में यूपी के बागपत, बड़ौत स्थित खिरनी गांव निवासी भानु कुमार पंवार, नैनीताल रोड स्थित क्वीन्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल परीक्षा केंद्र में मुजफ्फरनगर बुढ़ाना गुरालसी निवासी निदरेष कुमार, बागपत मोजीबाबाद के सन्नी पंवार, बागपत घासमंडी खेकड़ा रामपुर पप्ती निवासी बृजमोहन, पंकज और बरेली रोड डॉनबास्को स्कूल स्थित केंद्र में मेरठ निवासी अंकुर को नकल की पर्चियों के साथ रंगे हाथों पकड़ा। अपरा? दो बजे से शुरू हुई दूसरी पाली में भी क्वीन्स स्कूल में हरियाणा, बड़ौत, श्यामली के अंकुर, अविनाश, विनीत और सोनू को नकल की पर्चियों के साथ पकड़ा। सभी नकलचियों के पास मिली पर्चियों में सवालों के जवाब कोडवर्ड (1,2,3,4) में लिखे गये थे। पकड़े गये सभी नकलचियों के प्रश्नपत्र, एडमिट कार्ड, ओएमआरसीट सील कर कर्मचारी चयन आयोग दिल्ली को भेज दिये गये हैं। एसडीएम सिंह ने पेपर लीक होने की प्रबल संभावना जतायी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एसएससी परीक्षा में 11 नकलची पकड़ने से हड़कंप