DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तर भारतीयों की सुरक्षा करेगी यूपी पुलिस

दिल्ली में उत्तर भारतीयों पर हुए हमलों और वेज बरूआ आयोग की रिपोर्ट के बाद उनकी सुरक्षा को लेकर राज्य सरकार गंभीर हो गई हैं। कान्हा की नगरी में कितने उत्तर भारतीय रह रहे हैं, और उन्हें क्या परेशानी है इसका पता अब पुलिस लगाएगी। उत्तर भारतीयों की समस्या का समाधान 90 दिन में करना होगा, साथ ही आरोपी की गिरफ्तारी भी की जाएगी।

उत्तर भारतीयों की शिकायतों के निस्तारण के लिए शासन के निर्देश पर एसएसपी मंजिल सैनी ने एसपी क्राइम को नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिया है। उत्तर भारतीयों की समस्याओं के निस्तारण के लिए शीघ्र ही एक हेल्पलाइन भी शुरू की जाएगी। उत्तर भारतीयों की कितनी शिकायतें दर्ज हुईं और उनका क्या हुआ इसकी रिपोर्ट जिला नोडल अधिकारी को राज्य नोडल अधिकारी को देना होगा। जनपद में कितने उत्तर भारतीय निवास कर रहे हैं इसकी सूची एलआईयू से तलब की जा रही है। साथ ही नियंत्रण कक्ष को भी हिदायत दी गई है कि यदि कोई उत्तर भारतीय अपनी समस्या के बारे में बताता है तो उस पर तुरंत कार्रवाई के लिए संबंधित थानाप्रभारी को बताया जाए। सभी थाना प्रभारियों व सर्किल अफसरों को जारी कर दिए हैं।

फेसबुक पर भी रहेगी नजर
 उत्तर भारतीयों के साथ फेसबुक, टय़ूटर या व्हाट्स अप भी कोई परेशान करता है तो पुलिस साइबर एक्ट के तहत मामले को दर्ज कर परेशान करने वाले के खिलाफ कार्रवाई करेगी। एसएसपी ने इसके लिए सर्विलांस सेल को निर्देशित कर दिया है।

मंजिल सैनी, एसएसपी मथुरा
उत्तर भारतीयों की सुरक्षा के लिए शासन से जो निर्देश मिले हैं उनका पालन कराया जाना सुनिशचित कर दिया गया है। एलआईयू के माध्यम से जनपद में रह रहे उत्तर भारतीयों की सूची तैयार कराई जा रही है। एसपी क्राइम को नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिया गया है। हेल्पलाइन नम्बर भी शीघ्र शुरू करा दिया जाएगा। कन्ट्रोल रूप को दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उत्तर भारतीयों की सुरक्षा करेगी यूपी पुलिस