DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

युवक हुआ लापता, प्रधानमंत्री व मानवाधिकार आयोग को सूचित किया

सुहागनगरी से नौकरी के लिए दुबई गए युवक के कंपनी के जहाज से लापता होने से उसके परिवार में हड़कंप मचा हुआ है। कंपनी के अधिकारियों के पल-पल बदलते बयानों से परिवारीजनों की धड़कनें तेज हो गई हैं। परिजनों ने केंद्र सरकार, प्रधानमंत्री और मानवाधिकार आयोग को फैक्स कर मामले से अवगत करा दिया है। परिवारीजन सोमवार को विदेश मंत्री से मिलने की तैयारी कर रहे हैं।

थाना रामगढ़ के नगला बरी स्थित विजयपुरा निवासी ऋषिकांत बघेल घर से नौकरी के लिए दुबई की अलतावोन कंपनी में काम करने के लिए गया था। उसका रिश्तेदार जयप्रकाश निवासी नगला मनफूल थाना खैरगढ़ भी उसी जहाज पर काम करता था। उसने शुक्रवार की शाम ऋषिकांत के घर पर फोन किया कि वह जहाज से लापता है। उसके साथ काम करने वाले लोगों को भी उसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। जयप्रकाश के फोन के बाद ऋषिकांत के परिवार में हड़कंप मचा हुआ है। परिवारीजन लगातार कंपनी के अधिकारियों से संपर्क में लगे हुए हैं। कंपनी के अधिकारी पल-पल में बयान बदल रहे हैं। इससे परिवारीजनों की धड़कनें तेज हो गई हैं। कंपनी का जहाज ईरान तेल लेने के लिए जा रहा था। कुवैत से जहाज के चलने के कुछ दूरी पर ही तेज तूफान आने के कारण जहाज वहीं खड़ा कर दिया गया था। जहाज के कुक ने फोन पर परिजनों को बताया कि ऋषिकांत टॉयलेट गया था, उसके बाद उसका पता नहीं है। ऋषिकांत के परिवारीजन लगातार कंपनी के अधिकारियों के संपर्क में हैं। ऋषिकांत के मामा साहब सिंह ने बताया कि शनिवार को कंपनी के अधिकारियों ने बताया था कि उनकी शिप पर नौ लड़के रहते हैं, वहां से कोई लापता है इसकी जानकारी नहीं है। कुछ देर के बाद बताया कि उनको जानकारी हुई है, गार्ड भेजकर उसकी तलाश कराई जा रही है। रविवार को प्रबंधक से बात की गई तो उन्होंने अलग बयान दिए। उनका कहना था कि उनकी शिप पर मात्र पांच लोग रहते हैं, वह जहाज पर मौजूद है। प्रबंधक ने परिवारीजनों को बताया कि उन्होंने भारत सरकार को अपनी रिपोर्ट भेज दी है। कंपनी के अधिकारियों के बदलते बयानों से परिवारीजन खासे परेशान हैं। ऋषिकांत के मामा ने केंद्र सरकार, प्रधानमंत्री व मानवाधिकार आयोग को फैक्स भेजकर मामले से अवगत करा दिया है। परिवारीजन सोमवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से दिल्ली में मिलकर ऋषिकांत के बारे में जानकारी करने की गुहार लगाएंगे।
 
इनसेट---
कोई जहाज से गिर नहीं सकता
फिरोजाबाद। ऋषिकांत के बारे में सही जानकारी न मिलने से परिवारीजन काफी सकते में हैं। उसी जहाज पर तैनात वीरेन्द्र कुमार निवासी आकलाबाद हसनपुर का कहना है कि जहाज से कोई गिर नहीं सकता है। अगर तेज तूफान भी आए, तब भी जहाज से गिरना असम्भव है। जहाज से या तो फेंकने पर या स्वयं कूदने पर ही कोई जहाज से नीचे जा सकता है। वीरेन्द्र इस समय यहीं पर है। वह सोमवार को कुवैत के  लिए रवाना हो रहे हैं। वही ऋषिकांत को अपने साथ ले गए थे।
परिवारीजनों के दिमाग में कई ख्याल आ रहे
फिरोजाबाद। उसी जहाज पर तैनात वीरेन्द्र की बात सुन परिवारीजनों के दिमाग में कई तरह के ख्याल आ रहे हैं। इतनी दूरी होने के कारण वे लोग कुबैत तो पहुंच नहीं पा रहे हैं, लेकिन फोन से ही संपर्क कर हर पल की जानकारी लेने का प्रयास कर रहे हैं।
परिवार में मचा है कोहराम
फिरोजाबाद। ऋषिकांत के परिवार में कोहराम मचा हुआ है। उसके घर पर रिश्तेदारों व लोगों का तांता लगा हुआ है। माता-पिता की रोते-रोते बुरी हालत हो गई है। छोटे भाई-बहन भी अपने भाई की कुशलता की प्रार्थना कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:युवक हुआ लापता, प्रधानमंत्री व मानवाधिकार आयोग को सूचित किया