DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इलाहाबाद में सीट नहीं, दूसरे जिले से आस

प्राइमरी स्कूलों में 72,825 प्रशिक्षु शिक्षकों की भर्ती के लिए तीसरे राउंड की काउंसिलिंग में कला वर्ग के आवेदकों की निगाहें दूसरे जिलों पर टिकी हैं। दूसरे राउंड की काउंसिलिंग में ही इलाहाबाद की सीटें फुल होने के कारण अभ्यर्थी मिर्जापुर, लखीमपुर खीरी जैसे जिलों का रुख कर रहे हैं।
राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एससीईआरटी) की ओर से 3 नवंबर से शुरू तीसरे राउंड की काउंसिलिंग में सोमवार 10 नवंबर को कला पुरुष सामान्य वर्ग की काउंसिलिंग होनी है। इस वर्ग के लिए खाली सीटों की संख्या 12 प्रदर्शित हो रही है, जिसे लेकर कुछ अभ्यर्थियों में भ्रम की स्थिति है।

जबकि हकीकत यह है कि ये सभी खाली सीटें विशेष आरक्षण वर्ग की हैं। लिहाजा जिन अभ्यर्थियों का कटऑफ लिस्ट से अधिक है उनके लिए बेहतर होगा कि वह उन जिलों का रुख करें जहां सीटें खाली हैं। यही स्थिति मंगलवार को प्रस्तावित ओबीसी, एससी व एसटी वर्ग की काउंसिलिंग में है।
इस वर्ग में भी जिले में सीट नहीं बची है। लिहाजा भ्रमित होने की जरूरत नहीं है। डायट प्राचार्य विनोद कृष्णा ने बताया कि जो रिक्तियां दिख रही हैं वे विशेष आरक्षण वर्ग की है। जिले में कला वर्ग की सीटें भर चुकी है।

उदाहरण के तौर पर धमूनगंज की रहने वाली महिला कला सामान्य वर्ग की विन्रमता तिवारी को ही लें। इलाहाबाद में सीटें फुल होने के कारण टीईटी में 112 नंबर पाने वाली विनम्रता ने 6 नवम्बर को मिर्जापुर में काउंसिलिंग कराई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इलाहाबाद में सीट नहीं, दूसरे जिले से आस