DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रशासनिक कौशल की पहचान रखते हैं पार्रिकर

प्रशासनिक कौशल की पहचान रखते हैं पार्रिकर

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक से लेकर केंद्रीय मंत्री तक का  सफर तय करने वाले मनोहर गोपालकृष्ण पार्रिकर एक टेक्नोक्रेट हैं और वह अपने प्रशासनिक कौशल तथा साफ-सुथरी छवि के लिए जाने जाते हैं। वह तीन बार गोवा के मुख्यमंत्री रह चुके हैं।

आईआईटी-मुंबई से इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले पार्रिकर गोवा में भाजपा के शुरुआती सदस्यों में शामिल हैं। 59 साल के पार्रिकर ने 1994 से गोवा में पार्टी को उस वक्त उपर उठाने का काम किया जब उसके पास सिर्फ चार विधायक थे। उनके प्रयास से आज भाजपा गोवा में सत्तासीन है।

पार्रिकर के नेतत्व में भाजपा ने 2012 में हुए गोवा विधानसभा के चुनाव में 40 सदस्यीय सदन में 21 सीटें जीतीं और उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राज्य में अवैध खनन को लेकर उन्होंने कांग्रेस नीत सरकार के खिलाफ अभियान शुरू किया था और यही कांग्रेस विरोधी माहौल का केंद्रबिंदु बना।

वह भाजपा के पहले मुख्यमंत्री रहे जिन्होंने पिछले साल सार्वजनिक तौर पर कहा कि नरेंद्र मोदी के चेहरे के साथ पार्टी को 2014 के लोकसभा चुनाव में जाना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रशासनिक कौशल की पहचान रखते हैं पार्रिकर