DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएमपी नेता एम वी राघवन का निधन

सीएमपी नेता एम वी राघवन का निधन

दशकों तक केरल की बड़ी राजनीतिक हस्ती रहे मार्कसिस्ट कम्युनिस्ट पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री एमवी राघवन का आज लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। पूर्व मंत्री राघवन (81) पार्किन्संस बीमारी और बढ़ती उम्र के साथ होने वाली बीमारियों से ग्रस्त थे और इस वजह से पिछले दो साल से घर में ही रहते थे।
   
राघवन के परिवार ने बताया कि उन्होंने परियाराम सहकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में अंतिम सांस ली। इस संस्थान की स्थापना उन्होंने ही की थी। एक समय माकपा के तेजतर्रार नेता रहे राघवन को पार्टी नेतृत्व के साथ गहरे मतभेदों की वजह से 1986 में पार्टी से निकाल दिया गया था।
   
माकपा के गढ़ कन्नूर में पार्टी का उग्र चेहरा रहे राघवन ने पार्टी के युवा मोर्चे के गठन में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी थी। वह केरल के उन कुछ नेताओं में से थे जिन्होंने माकपा से निकाले जाने के बाद भी अपनी प्रासंगिकता बरकरार रखी।
   
माकपा से निकाले जाने के बाद वह तीन बार विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए। 1991-96 और 2001-06 के बीच वह यूडीएफ की सरकार में सहकारिता मंत्री रहे। उनके परिवार में उनकी पत्नी, एक बेटी और तीन बेटे हैं। उनके दो बेटे एम वी गिरीश कुमार और एम वी नीकेश कुमार पत्रकार हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सीएमपी नेता एम वी राघवन का निधन