DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जमुई, बांका और भागलपुर पुलिस को किया गया अलर्ट

झारखंड में विधानसभा चुनाव को लेकर सीमावर्ती जिलों में नक्सली गतिविधियां बढ़ गई हैं। गृह विभाग ने नक्सली हमले की आशंका को लेकर बिहार और झारखंड की सरकार को अलर्ट किया है। पुलिस मुख्यालय ने झारखंड से लगे सीमा पर कड़ी चौकसी और खुफिया तंत्र से सूचना संग्रह का निर्देश दिया है। पूर्व बिहार के सीमावर्ती भागलपुर, जमुई और बांका जिले में पुलिस को अलर्ट रहने के लिए कहा गया है।

खुफिया सूत्रों ने बताया कि झारखंड विधानसभा चुनाव के दौरान नक्सलियों ने तोड़फोड़ व खूनी हिंसा की तैयारी की है। झारखंड की सीमा से लगे बिहार के पहाड़ी जिलों में नक्सलियों का जुटान हो रहा है। गृह विभाग द्वारा जारी निर्देश के अनुसार पुलिस को आपात स्थिति से निबटने के लिए अलर्ट रहने के लिए कहा गया है। नक्सल ऑपरेशन से जुड़े एक अधिकारी ने कहा कि ठंड का मौसम नक्सलियों के लिए माकूल होता है। दिसंबर से लेकर 15 मार्च तक नक्सली हमले की आशंका रहती है।

इसलिए की ठंड के दौरान शाम चार बजे के बाद पुलिस की गतिविधियां जंगल और पहाड़ी इलाके में ठहर जाती है। घना कोहरा नक्सलियों को सपोर्ट करता है। इसलिए नक्सल इलाके में जहां भी पुलिस की कम संख्या है वहां पर मजबूती पुलिसिंग की व्यवस्था की जाएगी। जमुई और बांका में भाकपा माओवादी का संगठन सक्रिय है। भागलपुर जिले के गोड्डा व साहेबगंज जिले के सीमावर्ती गांव में नक्सली संगठन शांतिपाल गुट का दस्ता सक्रिय है। हालांकि जमुई और बांका जिले में पहले से ही सीआरपीएफ और एसटीएफ की कंपनियां तैनात हैं।

चुनाव प्रचार व सभा में नेताओं पर हो सकता है हमला
झारखंड चुनाव के दौरान नक्सली राजनीतिक दल के नेताओं को अपना निशाना बना सकते हैं। खुफिया एजेंसी ने गृह विभाग को अपने गोपनीय पत्र में यह जानकारी दी है। नेताओं पर हमला करने के लिए सुपारी किलर्स का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। गृह विभाग ने झारखंड सरकार को आगाह किया है कि वह किसी भी सूचना मजबूत कार्रवाई की तैयारी करने के लिए तैयार रहे। चुनाव प्रचार में आने वाले बड़े नेताओं की सुरक्षा का पूरा ख्याल रखने को कहा गया है। साथ ही सभाओं, पदयात्रा या रोड शो के दौरान भी पूरी चौकसी बरतने को कहा गया है। एक अधिकारी ने कहा कि झारखंड के सीमवर्ती जिले में चुनाव प्रचार के बाद नेता भागलपुर, जमुई और बांका में विश्रम कर सकते हैं। ऐसी स्थिति में नेताओं की सुरक्षा पर विशेष ध्यान रखने की जरूरत है।
-------------------
नक्सलियों से निबटने के लिए प्लान तैयार किया जा रहा है। पूर्व बिहार के सभी जिले के एसपी को अलर्ट किया गया है। खुफिया तंत्र से सूचना साझा करने और थानों में पुलिस की व्यवस्था मजबूत करने का निर्देश दिया गया है। रात में पुलिस को विशेष रूप से चौकस रहने को कहा गया है।
बच्चाू सिंह मीणा, जोनल आईजी, भागलपुर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जमुई, बांका और भागलपुर पुलिस को किया गया अलर्ट