DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेलवे में अच्छे दिन, पूरे बोनस की बाधा दूर

रेलवे ने कर्मचारियों के लिए पिटारा खोल दिया है। इसके तहत पूरा बोनस देने में लगा ‘ग्रहण’ हटा दिया गया है। इस आशय का निर्देश भी रेलवे बोर्ड ने 5 नवंबर को जारी कर दिया। इससे देशभर के रेल कर्मचारियों को बोनस के रूप में 17 से 70 हजार रुपए मिलेंगे। अभी तक हररेक को 8975 रुपए ही मिलते थे। भले ही वह चतुर्थ श्रेणी हो या इससे ऊपर का। इससे देश के लाखों तो कानपुर में लगभग 15 हजार कर्मचारियों को फायदा होगा। इस फरमान के आते ही रेलवे कर्मचारियों में खुशी की लहर दौड़ी।

कानपुर में तीन जोनों के (उत्तर मध्य रेलवे, उत्तर रेलवे, पूर्वोत्तर रेलवे) के लगभग 15 हजार रेल कर्मचारी हैं। अभी तक कहने को तो रेलकर्मियों को 78, 80 और 90 दिनों के वेतन के बराबर बोनस देने का ऐलान होता था। इसके आकलन के लिए कर्मचारियों की पगार 3500 रुपए आंकी जाती थी। इसी को आधार मान वेतन का कैलकुलेट कर बोनस दिया जाता था। लंबे अर्से से लागू नियमावली को खत्म करके हरेक को उसके मूल वेतन को आधार मान उसी के आधार पर बोनस राशि देने की मांग चल रही थी। इस मांग पर केंद्र सरकार ने मुहर लगा दी। सेंट्रल स्टेशन पर शनिवार को इस खुशी में लोगों ने एक-दूसरे को बधाई दी।


अभी तक यूं होता था बोनस का आकलन
- हर कर्मचारी का मासिक वेतन 3500 रुपए महीने माना जाता था। भले ही वह इससे दोगुनी, चौगुनी पगार पाता हो। मासिक वेतन को सालाना कंवर्ट करने के लिए 12 का गुणा करते थे। इसके बाद जो राशि आई, उसमें 365 दिन का भाग देते थे तो एक दिन का वेतन निकालते थे। इसमें तय दिन जैसे 78 दिन के बराबर बोनस देने का ऐलान किया तो एक दिन के वेतन में 78 का गुणा या फिर जितने दिनों के बोनस का ऐलान किया जाता था। इस करण हर एक रेल कर्मी को 8975 रुपए बोनस मिलता था।


अब ऐसे मिलेगा बोनस (5 नवंबर को जारी हुआ फरमान)
नई व्यवस्था के तहत हर कर्मचारी के मूल वेतन को आधार माना जाएगा। पिछले साल यानी जो बोनस वर्ष 2014 में मिलेगा। इस बोनस में मूल वेतन का आकलन पिछले साल यानी कि वर्ष 2013 का किया जाएगा। कर्मचारी के महीने के वेतन में से मूल पगार में 12 का गुणा करके साल भर का ब्योरा निकाला जाएगा। इसमें 365 का भाग दिया जाएगा तो एक दिन की मूल पगार निकल आएगी। इसमें उतने दिनों का गुणा कर दिया जाएगा जितने दिनों के बोनस देने का ऐलान किया गया है।


यही हैं मोदी के अच्छे दिन
केंद्र सरकार ने रेल कर्मचारियों को नायाब तोहफा दिया है। बोनस आकलन नियमावली में संशोधन करके इसे देने का फरमान जारी करने का मतलब साफ है कि रेल कर्मचारियों के अच्छे दिन की शुरुआत हो चुकी है। किसी ने सपने में भी नहीं सोचा था कि उन्हें 17 से लेकर 70 हजार रुपए तक बोनस के रूप में मिलेंगे। अब तो इसमें दुविधा भी नहीं है क्योंकि फरमान आ चुका है। बस देरी है तो वितरण भर की और वह भी जल्द बंटने लगेगा।
                                                          - यशभान सिंह, डिप्टी एसएस एवं मंडल अध्यक्ष, उत्तर मध्य रेल कर्मचारी संघ संबद्ध भारतीय मजदूर संघ कानपुर.

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रेलवे में अच्छे दिन, पूरे बोनस की बाधा दूर