अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रिड सब स्टेशन बन रहा, ट्रांसमिशन लाइन का ठिकाना नहीं

जिलों और प्रखंडों में बिजली ले जाने के लिए ग्रिड सब स्टेशन बनाये जा रहे हैं। बोर्ड का दावा है कि इस वर्ष कम से कम छह ग्रिड सब स्टेशन बन कर तैयार हो जायेंगे। लेकिन ट्रांसमिशन लाइन बिछाने का काम अब तक शुरू नहीं हुआ है। ट्रांसमिशन लाइन बिछाये जाने तक ग्रिड में लगे सामान सलामत रहेंगे या नहीं, इसकी कोई गारंटी नहीं है। कोलकाता की एरिबा नामक कंपनी झारखंड में सात जगहों पर ग्रिड सब स्टेशन बना रही है। डालटनगंज में 100 एमवीए (50 गुणा 2) क्षमता का ग्रिड सब स्टेशन अक्तूबर 2007 से ही बनकर तैयार है। कंपनी बोर्ड को हैंड ओवर करने के लिए तैयार है, लेकिन बोर्ड इसके लिए तैयार नहीं है। जपला में 40 एमवीए क्षमता का ग्रिड सब स्टेशन मई 2008 तक बनकर तैयार हो जायेगा। एरिबा कंपनी का कहना है कि बोर्ड वायदे के मुताबिक बिल का भुगतान नहीं करता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ग्रिड सब स्टेशन बन रहा, ट्रांसमिशन लाइन का ठिकाना नहीं