DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान में सूखे से 275 बच्चे मरे

पाकिस्तान में सूखे से 275 बच्चे मरे

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के एक दूरस्थ जिले में पिछले 11 माह के दौरान सूखे और स्वास्थ्य की देख-रेख संबंधी समुचित सुविधाओं के अभाव में कम से कम 275 बच्चों की मौत हो गई। थारपरकर नामक इस जिले में ज्यादातर अल्पसंख्यक हिंदू रहते हैं। भारत-पाक सीमा पर स्थित इस जिले का ज्यादातर हिस्सा रेगिस्तान है जहां पानी के लिए लोग बारिश पर निर्भर करते हैं और बारिश कई महीनों में होती है।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर में कहा गया है कि उपायुक्त आसिफ जमील ने बृहस्पतिवार को प्रांतीय सरकार को पांच साल से कम उम्र के उन बच्चों की सूची तथा ब्यौरा सौंपा है जिनकी दिसंबर 2013 से अक्टूबर 2014 के बीच मौत हुई। आधिकारिक तौर पर इन बच्चों की मौत का कारण सूखा बताया गया है और चिकित्सकीय कारणों में न्यूमोनिया, रक्त संक्रमण, अतिसार, जन्म श्वांस अवरोध (बर्थ एस्फायशिया) और रक्तस्रावी बुखार का जिक्र किया गया है।

इस मुद्दे पर सिंध सरकार गहरे दबाव में है। पीपीपी के संरक्षक बिलावल जरदारी भुट्टो ने सिंध के मुख्यमंत्री कैम्म अली शाह और प्रांतीय उप महासचिव मंजमूर हुसैन वासन को इस संकट से समुचित तरीके से न निपटने के लिए कारण बताओ नोटिस जारी किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाकिस्तान में सूखे से 275 बच्चे मरे