DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चिदंबरम ने यूपीए सरकार के फैसलों पर उठाए सवाल

चिदंबरम ने यूपीए सरकार के फैसलों पर उठाए सवाल

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने अपनी ही सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा है कि 2जी स्पेक्ट्रम घोटाले के खुलासे के बाद ही यूपीए सरकार को सारे लाइसेंस रद्द कर देने चाहिए थे। इसके लिए अदालती आदेश का इंतजार नहीं किया जाना चाहिए था। उन्होंने माना कि 2जी घोटाले और कैग रिपोर्ट ने कांग्रेस को नुकसान पहुंचाया। 

शुक्रवार को यहां एक किताब के विमोचन के दौरान वित्त मंत्री अरुण जेटली के साथ बहस के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने ये बातें कहीं। चिदंबरम ने अपनी ही सरकार में प्रधानमंत्री रहे मनमोहन सिंह पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को 2जी लाइसेंस की पहले आओ-पहले पाओ की नीति के खिलाफ कडम रुख अपनाना चाहिए था।

उन्होंने यहां तक कहा कि अगर अर्थव्यवस्था के साथ हम सारी कदम सही भी उठाते तो नतीजे कुछ बेहतर होते लेकिन फिर भी भाजपा आज नंबर वन पार्टी होती। चिदंबरम ने कहा कि अगर समय रहते लाइसेंस रद करने का फैसला ले लिया जाता तो कांग्रेस को इतना नुकसान नहीं होता और भ्रष्टाचार फैलने की छवि न बनती। पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि वह भी अपनी किताब लिखकर कई बातें सामने लाएंगे। उल्लेखनीय है कि पूर्व दूरसंचार मंत्री ए राजा ने पहले आओ-पहले पाओ की नीति में अनियमितता बरतते हुए 2जी लाइसेंस बांटे थे और बाद में घोटाले का खुलासा हुआ। उन्होंने यह भी माना कि यूपीए सरकार ने कुछ गलतियां कीं वरना हम चुनाव नहीं हारते।

चिदंबरम का यह बयान उनके बेटे कार्ती चिदंबरम के आलाकमान संस्कृति पर सवाल उठाने के कुछ दिनों बाद ही आया है। तमिलनाडु कांग्रेस में मची उथल-पुथल के बीच चिदंबरम का यह बयान पार्टी में अंदरूनी उठापटक को और बढम सकता है।
चिदंबरम ने कहा कि अगर उनकी सरकार को लोकसभा में 282 सीटें मिली होतीं तो हमने रिट्रोस्पेक्टिव टैक्स को हटा दिया होता। जेटली के यह कहने पर कि हमें विरासत में लडम्खडमती हुई अर्थव्यवस्था मिली थी। चिदंबरम ने जवाब दिया कि हमने ऐसी अर्थव्यवस्था नई सरकार को सौंपी थी कि जिसने 8.5 प्रतिशत की औसत आर्थिक विकास दर हासिल की। बीमा बिल पर राजनीतिक मतभेदों को परे रखते हुए चिदंबरम ने कहा कि अगर दिसंबर में यह बिल पारित होता है तो वह संसद परिसर के बाहर से खुशी मनाएंगे। जेटली ने कहा कि देश यूपीए सरकार की अनिर्णय की स्थिति से ऊब गया था और उसने मोदी के नेतृत्व में निर्णायक सरकार दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चिदंबरम ने यूपीए सरकार के फैसलों पर उठाए सवाल