DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैबिनेट विस्तार: एक दर्जन नए मंत्री बनने की संभावना

कैबिनेट विस्तार: एक दर्जन नए मंत्री बनने की संभावना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मंत्रिपरिषद के रविवार को होने वाले विस्तार में लगभग एक दर्जन नए मंत्री शामिल किए जा सकते है। विस्तार में उत्तराखंड को प्रतिनिधित्व मिलने की संभावना है, जबकि बिहार, झारंखड, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र व गोवा का प्रतिनिधित्व बढ़ सकता है। फिलहाल किसी भी मंत्री को हटाए जाने की संभावना नहीं है, लेकिन कुछ की पदोन्नति व कुछ के विभाग जरूर बदले जाएंगे। मंत्रिपरिषद में शामिल होने जा रहे सबसे बडम्े चेहरे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पारीकर को उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सदस्य बनाए जाने की संभावना है । पारीकर के स्थान पर नया मुख्यमंत्री चुनने के लिए शनिवार को भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक होने की संभावना है।
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार दोपहर को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी से दिल्ली वापस आ जाएंगे। उसके बाद देर शाम तक नए मंत्रियों की सूची राष्ट्रपति भवन भेजी जा सकती है। भाजपा से आठ से दस नए मंत्री शामिल किए जा सकते है, जबकि सहयोगी दलों की संख्या तीन से पांच मंत्रियों की हो सकती है। गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पारीकर का रक्षा मंत्री बनना लगभग तय है। सूत्रों के अनुसार पारीकर शपथ लेने के बाद सोमवार को लखनऊ में राजयसभा सदस्य के लिए नामांकन दाखिल करेंगे।

गोवा में विधायकों से चुना जा सकता है नया नेता
गोवा में उनकी जगह विधायकों में से ही नया नेता चुना जाएगा। केंद्र सरकार में मंत्री श्रीपाद यशो नाईक भी मुख्यमंत्री पद के दावेदार है, लेकिन उनके नाम पर पारीकर तैयार नहीं है। ऐसे में स्वास्थ्य मंत्री लक्ष्मीकांत परसेकर, विधानसभा अध्यक्ष राजेंद्र अरलेकर और उप मुख्यमंत्री फ्रांसिस डीसूजा प्रबल दावेदार हैं। सूत्रों के अनुसार पारीकर को लगभग एक सप्ताह पहले केंद्र में आने को कहा गया था, लेकिन वे इसके लिए तैयार नहीं थे, लेकिन पार्टी व संघ से बनाए गए दबाब के बाद उनको तैयार किया गया।

उत्तराखंड को प्रतिनिधित्व मिलने की संभावना
सूत्रों के अनुसार नए संभावित मंत्रियों में बिहार से गिरिराज सिंह, झारखंड से जयंत सिन्हा, उत्तराखंड से अजय टमटा, उत्तर प्रदेश से मुख्तार अब्बास नकवी, राजस्थान से गजेंद्र सिंह शेखावत, हरियाणा से चौधरी वीरेंद्र सिंह, आंध्र प्रदेश से टीडीपी के वाय एस चौधरी, महाराष्ट्र से शिवसेना के अनिल देसाई, आरपीआई के रामदास आठवले के साथ सुरेश प्रभु व अनुराग ठाकुर के नामों की चर्चा है।

राज्यसभा के रास्ते आने पर नजर
शामिल किए जाने वाले संभावित नामों में पारीकर के साथ सुरेश प्रभु, चौधरी वीरेंद्र सिंह अभी किसी सदन के सदस्य नहीं है। उत्तर प्रदेश में इसी माह होने वाले राज्यसभा चुनाव में उसका एक सदस्य चुन कर आ सकता है। इसके बाद अगले छह महीने में हरियाणा में दो व झारखंड में एक उपचुनाव होने हैं, जबकि नए चुनावों के बाद जम्मू-कश्मीर की चार सीटों के लिए चुनाव होंगे। हरियाणा से चौधरी वीरेंद्र सिंह चुनकर आ सकते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कैबिनेट विस्तार: एक दर्जन नए मंत्री बनने की संभावना