DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेसेंक्स में दर्ज की गई 47 अंकों की गिरावट

सेसेंक्स में दर्ज की गई 47 अंकों की गिरावट

उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में बंबई शेयर बाजार का सूचकांक शुक्रवार को करीब 47 अंक की गिरावट के साथ रिकॉर्ड उच्च स्तर से नीचे आ गया। बैंक, धातु तथा पूंजीगत वस्तु बनाने वाली कंपनियों के शेयरों की बिकवाली से बाजार में गिरावट दर्ज की गई।

शुरूआती, कारोबार में मजबूती के साथ सेंसेक्स 27,980.93 अंक की ऊंचाई को छू गया। हालांकि, बाजार के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने के साथ निवेशकों ने कुछ मुनाफावसूली की जिससे बीएसई सेंसेक्स दिन के निम्नतम स्तर 27,739.56 अंक पर आ गया। बाद में लिवाली से नुकसान पर कुछ अंकुश लगा और सेंसेक्स 47.25 अंक या 0.17 प्रतिशत के नुकसान के साथ 27,868.63 अंक पर बंद हुआ।
सेंसेक्स में शामिल 30 शेयरों में भेल, गेल, कोल इंडिया, हीरो मोटो कार्प, टाटा स्टील और हिन्डाल्को सहित 21 लाभ में रहे। इससे पहले, बुधवार को 30 शेयरों पर आधारित सेंसेक्स अब तक के उच्च स्तर 27,915.88 अंक पर बंद हुआ था।

इसी प्रकार, 50 शेयरों वाला नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 1.30 अंक या 0.02 प्रतिशत की गिरावट के साथ 8,337.00 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान यह नीचे में 8,300 अंक से नीचे 8,290.25 अंक तक गिर गया था। बुधवार को निफ्टी 14.15 अंक की तेजी के साथ रिकॉर्ड 8,338.30 अंक की ऊंचाई को छू गया था। बैंक शेयरों में गिरावट देखी गयी। सर्वाधिक नुकसान में स्टेट बैंक तथा एचडडीएफसी बैंक में रहा।

वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ्य, रीयल्टी, उपभोक्ता टिकाऊ तथा आईटी कंपनियों के शेयरों में तेजी देखी गयी। प्रतिभूति अपीलीय न्यायाधिकरण द्वारा डीएलएफ को 1,806 करोड़ रुपये का म्यूचुअल फंड भुनाने की अनुमति दिये जाने से कंपनी का शेयर 6 प्रतिशत से अधिक मजबूत हुआ। कारोबारियों के अनुसार बाजार में काफी तेजी आ चुकी है और निवेशकों ने रिकॉर्ड स्तर पर मुनाफावसूली को तरजीह दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेसेंक्स में दर्ज की गई 47 अंकों की गिरावट