DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो सौ करोड़ रुपये की लागत से 12 प्रशिक्षण केंद्र बनेंगे

दो सौ करोड़ रुपये की लागत से 12 प्रशिक्षण केंद्र बनेंगे

सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम को गति देने के लिए 200 करोड़ रुपये की लागत से 12 उन्नत प्रशिक्षण संस्थानों 'एटीआई' की स्थापना की योजना बनाई है। 
   
सूत्रों ने आज बताया कि श्रम और रोजगार मंत्रालय के रोजगार एवं प्रशिक्षण महानिदेशालय व्यावसायिक प्रशिक्षकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए ने प्रशिक्षकों के प्रशिक्षण के लिए 27 उन्नत प्रशिक्षण संस्थानों की स्थापना करने का निर्णय लिया है। दक्षता और नवाचार को प्रेरित करने के लिए निजी भागीदारी पर जोर देते हुए निदेशालय ने इन संस्थानों को विकसित करने के लिए सार्वजनिक-निजी भागीदारी का पता लगाने का फैसला किया है। यह निदेशालय देश में व्यावसायिक प्रशिक्षण के विकास और समन्वय के लिए एक शीर्ष संगठन है। 
   
महानिदेशालय ने योजना के पहले चरण में देश के विभिन्न स्थानों पर 200 करोड़ रुपये की लागत से 12 उन्नत प्रशिक्षण संस्थानों एटीआई की स्थापना करने का प्रस्ताव किया है। इसका उद्देश्य प्रारंभ में 9200 व्यावसायिक अनुदेशकों को प्रशिक्षण देना है। 
  
सूत्रों का कहना है कि यह प्रयास 'मेक इन इंडिया' कार्यक्रम का एक हिस्सा है, जिसका उद्देश्य भारत को विनिर्माण केंद्र के रूप में परिवर्तित करना है। योजना के तहत कौशल विकास पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।    प्रधानमंत्री ने भारत को वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने में सक्षम बनाने के लिए कौशल, स्तर और गति पर ध्यान केन्द्रित करने की जरूरत पर जोर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दो सौ करोड़ रुपये की लागत से 12 प्रशिक्षण केंद्र बनेंगे