DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जूट उत्पादन व विपणन में सुधार करें: नीतीश

जूट कारपोरशन ऑफ इंडिया और राज्य सरकार के वरीय अधिकारियों के साथ बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कई महत्वपूर्ण फैसले लिये। एक अणे मार्ग में आयोजित इस उच्चस्तरीय बैठक में उन्होंने जूट उत्पादन और विपणन में सुधार करने का निर्देश देते हुए कहा कि ऐसे उपाय किये जायं जिससे किसानों को अधिकाधिक लाभ मिले। बैठक में उपस्थित जूट कारपोरशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक डा. आरसी तिवारी ने भी सुधार में सार्थक योगदान का भरोसा दिलाया और राज्य सरकार से सहयोग की अपेक्षा की।ड्ढr ड्ढr बैठक की जानकारी देते हुए औद्योगिक विकास आयुक्त एके सिन्हा ने बताया कि राज्य में दो स्थानों पर जूट मार्केट यार्ड का निर्माण किया जायेगा। हर यार्ड के निर्माण में एक करोड़ रुपये खर्च होंगे जिसमें 60 लाख रुपये केन्द्र सरकार और 40 लाख रुपये राज्य सरकार देगी। इसके लिए राज्य सरकार शीघ्र ही जमीन उपलब्ध करायेगी। इसके अलावा चार स्थानों पर स्थाई क्रय केन्द्र का निर्माण कराया जायेगा।अस्थाई जूट क्रय केन्द्र भी पर्याप्त संख्या में खोले जायेंगे। इसके लिए राज्य सरकार एक-एक एकड़ जमीन उपलब्ध करायेगी और निर्माण पर होने वाले व्यय का भार जूट कारपोरशन ऑफ इंडिया उठायेगा। आवश्यकतानुसार पर्याप्त संख्या में जूट रटिंग टैंक का निर्माण कराया जायेगा। इसपर होने वाले व्यय में दस प्रतिशत राशि किसानों को खर्च करनी होगी शेष 0 प्रतिशत राशि केन्द्र सरकार देगी। श्री सिन्हा ने बताया कि किसानों की उपज का अधिकाधिक लाभ दिलाने के लिए राज्य सरकार ने जूट पार्क बनाने का भी प्रस्ताव दिया है। इन पार्को के संचालन के लिए प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का गठन कर उनका निबंधन कराया जायेगा। बैठक में लिये गये निर्णयों पर की गई कार्रवाई की समीक्षा के लिए एक सप्ताह बाद फिर बैठक होगी। मुख्यमंत्री ने आशा व्यक्त की इन प्रयासों के फलस्वरूप शीघ्र ही बिहार में जूट उत्पादन में गुणत्मक वृद्धि होगी और उससे किसानों को भी पूरा लाभ मिलेगा।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जूट उत्पादन व विपणन में सुधार करें: नीतीश