DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चोर बना पुलिस का मुखबिर

रोहता चौराहा (सदर) स्थित पीएनबी का एटीएम काटकर 14.50 लाख रुपये ले गए बदमाशों की घेराबंदी इतनी आसान नहीं थी। एक होमगार्ड ने सुराग दिया और पुलिस आगे बढ़ती चली गई। दिल्ली में गैंग का पूर्व गुर्गा मिल गया। वह पुलिस का खबरी बन गया। उसने पुलिस को जो सूचनाएं दीं, वह बहुत मददगार साबित हुई। फरार बदमाश की तलाश में भी पुलिस उसकी मदद ले रही है।

सनसनीखेज वारदात का खुलासा सीओ सदर असीम चौधरी की टीम ने किया था। डीआईजी और एसएसपी ने पुलिस टीम की पीठ थपथपाई थी। गिरोह के पांच बदमाश बुधवार को जेल भेज दिए गए। फरार बदमाश गुरुमीत सिंह अभी भी पुलिस की आंखों की किरकिरी बना हुआ है। वह मूलत: फिरोजपुर (पंजाब) का निवासी है। बचा हुआ पैसा उसी के पास है।

पुलिस सूत्रों की मानें तो पुलिस की टीम सबसे पहले दिल्ली पहुंची थी। उस व्यक्ति को खोज निकाला, जिसके नाम वह होंडा सिटी थी। उसने पुलिस को बताया कि एक दलाल के माध्यम से उसने गाड़ी बेची थी। पुलिस ने दलाल को खोज निकाला। वह भी अपना गैराज चलाता है। पूर्व में इस गिरोह का सक्रिय गुर्गा रहा है। गिरोह के गुर्गे एक वारदात में उसकी नैनो कार ले गए थे। वारदात की और माल मिलने के बाद उसे हिस्सा नहीं दिया। इसी घटना के चलते उसने गिरोह से नाता तोड़ लिया। पुलिस जब उसके पास पहुंची तो बचने के लिए वह पुलिस का खबरी बन गया। उसने पुलिस को बताया कि गिरोह के गुर्गे कहां-कहां मिल सकते हैं। गिरोह में कौन-कौन शामिल हैं।

जेल भेजे गए बदमाशों ने बताया कि एटीएम काटना इतना आसान नहीं हैं। इसके लिए उन्होंने बहुत रिहर्सल किया है। लोहे की एक इंच मोटी चादर काटते थे। गैस कटर से चादर काटते समय इस बात का ध्यान रखते थे कि लौ बहुत पतली रहे, ताकि उसकी गरमाहट से अंदर लगी विन आग नहीं पकड़ ले। गिरोह के गुर्गो को अब इतनी महारथ हासिल हो चुकी थी कि एक घंटे में किसी भी एटीएम को काटकर फेंक देते थे। इस गिरोह पर आगरा पुलिस की कार्रवाई से दूसरे प्रदेशों की पुलिस हैरान है। लंबे समय से पंजाब, दिल्ली, हरियाणा, उत्तराखंड की पुलिस को इस गिरोह की तलाशी थी। जब भी एटीएम काटने की घटना होती थी, पुलिस इस गिरोह को खोजती थी, मगर कोई सुराग नहीं मिलता था।

इंसेट---------------
जेल पर रहेगी पुलिस की नजर
पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि जिला जेल में बंद इस गिरोह के गुर्गो पर पैनी नजर रखी जाए। इनसे जो भी मिलाई करने आए, उसका रिकार्ड जेल से लिया जाए। गिरोह के गुर्गे भागने का प्रयास कर सकते हैं, इसलिए जेल अधिकारियों को भी अलर्ट किया गया है। उन्हें बताया गया है कि गिरोह के सदस्य बेहद शातिर हैं। एक सरिया भी मिल गई तो उससे सुरंग बना देंगे। सभी हाथ के कारीगर हैं। इसलिए सभी को अलग-अलग बैरक में रखा गया है।


पंजाब जाएगी पुलिस टीम
फरार गुरुमीत की तलाश के लिए एक टीम रविवार को पंजाब रवाना होगी। पुलिस का मानना है कि उसे जल्द नहीं पकड़ा गया तो वह अपना गिरोह फिर खड़ा कर लेगा। वह गिरोह का मास्टर माइंड है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चोर बना पुलिस का मुखबिर