DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मोदी सरकार के विस्तार को लेकर गहमागहमी तेज

मोदी सरकार के विस्तार को लेकर गहमागहमी तेज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के रविवार को संभावित पहले विस्तार में एक दर्जन से ज्यादा नए मंत्रियों को शामिल करने के साथ कई बड़े मंत्रियों को विभागों में भी बदलाव किए जा सकते हैं। शिवसेना व तेलुगू देशम से भी कुछ मंत्री लिए जा सकते है। शिवसेना ने महाराष्ट्र में भी सरकार में शामिल होने के संकेत दिए हैं। शिवसेना को केंद्र में एक कैबिनेट या दो राज्यमंत्री और महाराष्ट्र में आठ मंत्री बनाने की पेशकश की गई है।

राष्ट्रपति भवन में आयोजित गुरुवाणी कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से भी चर्चा हुई है। समझा जाता है कि मोदी ने राष्ट्रपति से मंत्रिपरिषद के संभावित विस्तार पर भी बात की है। विस्तार की खबरों के बाद सरकार के तमाम मंत्रियों में खलबली मच गई है तो सांसद भी सक्रिय हो गए हैं।

बुधवार को गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पारीकर की मोदी व अमित शाह से मुलाकात उनको रक्षा मंत्री बनाने की पेशकश की गई है। पारीकर गोवा रवाना हो गए हैं, जहां वे पार्टी के सभी विधायकों से मिल रहे हैं। पार्टी महासचिव जगत प्रकाश नड्डा का नाम भी चर्चा में रहा, हालांकि सांगठनिक सूत्रों ने उनके नाम का खंडन करते हुए कहा कि उनके पास अभी सबसे ज्यादा सांगठनिक जिम्मेदारी है।

टीडीपी से चौधरी, शिवसेना से देसाई के नामों की चर्चा
तेलुगूदेशम नेता चंद्रबाबू नायडू ने संकेत दिए हैं कि उनकी पार्टी को एक और जगह मिल सकती है। सूत्रों के अनुसार टीडीपी अपने राज्यसभा सांसद वाए एस चौधरी का नाम दे सकती है। शिवसेना से सुरेश प्रभु के साथ अनिल देसाई का नाम चर्चा में है। प्रभु के सांसद बनने की समस्या है, लेकिन उनको मोदी की पसंद माना जा रहा है।

कुछ का बोझ कम, कुछ के बदलेंगे विभाग
सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री नजमा हेपतुल्ला के कामकाज से खुश नहीं है। उनकी जगह मुख्तार अब्बास नकवी के नाम की चर्चा है। मानव संसाधन मंत्रालय में विवादों में घिरी रही स्मृति ईरानी को उनकी पसंद का सूचना प्रसारण विभाग दिया जा सकता है। ऐसे में प्रकाश जावडेकर को पर्यावरण मंत्रालय में कैबिनेट मंत्री बनाया जा सकता है। पियूष गोयल के मंत्रालयों में भी फेरबदल हो सकता है। नरेंद्र सिंह तोमर से स्टील व रविशंकर प्रसाद से संचाव व आईटी का बोझ कम किया जा सकता है। खेल मंत्री सर्वानंद सोनोवाल का भी मंत्रालय भी बदला जा सकता है।

हर राज्य से उभरे कई दावेदार
विस्तार में राजस्थान से दो मंत्री लिए जा सकते हैं। इनमें गजेंद्र सिंह शेखावत के साथ कर्नल सोनाराम चौधरी या सांवरलाल जाट में से किसी एक को लिया जा सकता है। विस्तार की खबरों के बीच महाराष्ट्र ने दिलीप गांधी, छत्तीसगढ़ से रमेश बैस, बिहार से भोला सिंह व गिरिराज सिंह, उत्तराखंड से अजट टमटा, हिमाचल प्रदेश से वीरेंद्र कश्यप व अनुराग ठाकुर, उत्तर प्रदेश से रामचरित्र निषाद व वीरेंद्र सिंह मस्त के नामों की चर्चा रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मोदी सरकार के विस्तार को लेकर गहमागहमी तेज