DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुनिए..राष्ट्रपति भवन आपका कर रहा है इंतजार

अगर आपके पास नई खोज की कोई बेहतरीन योजना है। आप उसे मूर्त रूप देने में लगे हुए हैं या देना चाहते हैं तो तैयार हो जाएं। मेहमानवाजी के लिए राष्ट्रपति भवन आपका इंतजार कर रहा है। आपको न केवल राष्ट्रपति भवन में रहने का मौका मिलेगा बल्कि आप राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और अन्य विशेषज्ञों के साथ अपनी इस योजना पर चर्चा भी कर सकेंगे। नई खोजों को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रपति की ओर से शुरू की गई इनोवेशन स्कॉलर इन रेजिडेन्स स्कीम के लिए आवेदन की प्रक्रिया एक नवंबर से शुरू हो गई है।

खास बात यह है कि इसके लिए न तो किसी डिग्री की आवश्यकता है और न ही डिप्लोमा की। देश का कोई भी नागरिक आवेदन कर सकता है। नई खोज के आइडिया, उसे साकार करने की योजना तथा ट्रैक रिकॉर्ड के आधार पर चयन किया जाएगा। इसके लिए राष्ट्रपति सचिवालय में स्क्रीनिंग कमेटी गठित की गई है। चयनित लोग बीस दिनों के लिए राष्ट्रपति भवन के मेहमान होंगे और वहां रहकर राष्ट्रपति एवं अन्य विशेषज्ञों से साथ अपने आइडिया पर विस्तार से चर्चा करेंगे। राष्ट्रपति भवन की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन लिए जा रहे हैं। अंतिम तिथि 30 नवंबर है।

राष्ट्रपति श्री मुखर्जी ने यह योजना दिसंबर 2013 में शुरू की थी। पहले बैच में इसके तहत देशभर से आठ लोग चयनित हुए थे। ये आठों लोग एक जुलाई से 20 जुलाई 2014 तक राष्ट्रपति भवन के मेहमान थे। दूसरे बैच में चयनित लोग सात मार्च 2015 से बीस दिनों के लिए राष्ट्रपति भवन में रहेंगे। इस बैच में और ज्यादा लोग चयनित हों इसलिए योजना का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। यूजीसी के सचिव प्रो. जसपाल एस संधू ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय समेत देश के सभी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को पत्र लिखकर शिक्षकों, शोधार्थियों, कर्मचारियों, छात्रों के साथ ही समाज के अन्य लोगों को इसकी जानकारी देने को कहा है।

क्या है योजना का उद्देश्य
-समाज के निचले तबके के खोजकर्ता (इनोवेटर) को राष्ट्रपति भवन बुलाकर बेहतर माहौल देना।
-ऐसे लोगों के आइडिया को जानना तथा उन्हें तकनीकी एवं अन्य संस्थानों से मदद दिलवाना।
-इन्हें संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की मदद दिलवाना ताकि वे अपने आइडिया को आकार दे सकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सुनिए..राष्ट्रपति भवन आपका कर रहा है इंतजार